हाथरस कांड में आया नया ट्विस्ट, भाई और आरोपी के बीच हुई बातचीत

पिछले 5 महीने में मुख्य आरोपी और पीड़ित के भाई के नाम पर रजिस्टर्ड नंबर पर कम से कम 100 बार बात हुई है।

0
526
Hathras Rape Case Update
पिछले 5 महीने में मुख्य आरोपी और पीड़ित के भाई के नाम पर रजिस्टर्ड नंबर पर कम से कम 100 बार बात हुई है।

Hathras: उत्तर प्रदेश में हाथरस कांड को लेकर नया ट्विस्ट सामने आया है। जांच में खुलासा हुआ है कि मृतक लड़की के भाई और आरोपी के बीच कॉल डिटेल Hathras (Hathras Rape Case Update) का खुलासा हुआ है। दोनों के बीच 100 बार फोन पर बात हुई हैं। बता दें कि लड़की की दिल्ली के अस्पताल (Hathras Rape Case Update) में 29 सितंबर को मौत हो गई थी।

परिवारवालों ने आरोपियों पर गैंगरेप और मारपीट का आरोप लगाया था। इस बीच, यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सीबीआई जांच (Hathras Rape Case Update) की मांग की है। लेकिन परिवार वालों ने सीबीआई जांच के लिए इंकार कर दिया था। साथ ही नारको टेस्ट कराने से भी मना कर दिया था। अब सवाल यह उठता है कि आखिर पीड़ित परिवार जांच करवाने के मूड में क्यों नही है। 

हाथरस की एक और बेटी से रेप, 6 साल की मासूम की इलाज के दौरान मौत

सूत्रों की माने तो कॉल डिटेल रिकॉर्ड की जांच के में पता चला है कि पिछले 5 महीने में मुख्य आरोपी और पीड़ित के भाई के नाम पर रजिस्टर्ड नंबर (Hathras Rape Case Update) पर कम से कम 100 बार बात हुई है। जांच में पता चला है कि संदीप को पीड़िता के भाई के नाम से एक नंबर से हर रोज कॉल  आता था। इस बीच 13 अक्टूबर, 2019 से टेलीफोनिक बातचीत शुरू हुई। ज्यादातर कॉल चंदपा क्षेत्र में स्थित और सेल टॉवरों से किए गए थे, जो पीड़िता के गांव बूलगढ़ी से 2 किमी दूर थे।

आपको बता दें हाथरस कांड की जांच कर रही SIT को जांच (Hathras GangRape Case) के लिए 10 दिन और मिल गए हैं। इससे पहले SIT मंगलवार को ही राज्य सरकार को जांच रिपोर्ट सौंपने वाली थी। मंगलवार को एसआईटी पांचवी बार पीड़िता के गांव बूलगढ़ी पहुंची और पीड़िता के परिवार के लोगों से मुलाकात की। साथ ही टीम के सदस्यों ने घटनास्थल का मुआयना किया, जहां पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार किया गया था। 

हाथरस केस CBI तक पहुंचा, क्या पीड़ित परिवार को मिलेगा इंसाफ?

यूपी सरकार का कहना है कि 14 सितंबर को घटना हुई। पहले तो लड़की के बयान के आधार पर हत्या का प्रयास और छेड़छाड़ का केस दर्ज (Hathras GangRape Case) किया गया। बाद में 22 सितंबर 2020 को लड़की का दोबारा आईओ ने बयान लिया तब उसने बताया कि चार लड़कों ने उसका रेप किया और गला दबाने की कोशिश की। फिर उस बयान के आधार पर गैंग रेप की धारा जोड़ी गई और लड़की का सेक्सुअल असॉल्ट फॉरेंसिक टेस्ट कराया गया। रिपोर्ट में कहा गया कि पहली नजर में रेप नहीं लगता। इसके बाद स्थिति खराब होने पर विक्टिम को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी 29 सितंबर को मौत हो गई थी। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here