क्या सर्दी-खांसी है कोरोना के लक्षण? जानिए शोध की जुबानी

कोरोना माहामारी का कहर देश और दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है। रुस और चीन ने कोरोना की वैक्सीन तैयार कर ली है।

0
248
Covid Cases in India
देश में कोरोना का रिकवरी रेट 85.25 प्रतिशत, 58 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक

New Delhi: कोरोना माहामारी का कहर देश और दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है। रुस और चीन ने कोरोना की वैक्सीन (Coronavirus symptoms) तैयार कर ली है, लेकिन भारत, अमेरिका, ब्रिटेन अब भी कोरोना वैक्सीन बनाने में जुटा हुआ हैं। कोरोना के लक्षाणों के आधार पर बहुत सारी दवाएं आ रही, लेकिन पूरी तरह से बीमारी (Coronavirus symptoms) को ठीक करने वाली दवाई अब तक भारत में नही आई है।   

सेहतमंद दिल के लिए अपनी लाइफस्टाइल में करें ये बदलाव

बता दें कि कोरोना वायरस के 15 तरह के लक्षण बताए गए हैं। लोग सर्दी, खांसी, बुखार होने पर कोरोना की जांच करवा रहे हैं, लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या यही कोरोना (Coronavirus symptoms) का कारण है- कोविड-19 एक भयानक संक्रमित रोग है जो एक इंसान से दूसरे इंसान पर तेजी से फैल रहा है। इसी वजह से कोरोना के सिमटम (Coronavirus symptoms) दिखते ही लोग खुद को घरों में ही आइसोलेट कर रहे है। और डाक्टर भी ऐसे लोगों को आइसोलेट होने की सलाह दे रहे है। इसके लिए सबसे पहले संक्रमण की पहचान जरूरी है।

आपको बता दें ज्यादातर देशों में सर्दी, बुखार, खांसी आदि को कोरोना का अहम लक्षण माना जा रहा है, लेकिन सामान्य फ्लू और मौसमी बीमारियों (Coronavirus symptoms) में भी ये लक्षण कॉमन हैं। इसलिए अब इस मान्यता को बदलने की जरूरत है। एक शोध के अनुसार, कोरोना संक्रमण में गंध और स्वाद लेने की क्षमता का कम होना सबसे विश्वसनीय लक्षण माना जा रहा है। ब्रिटेन में वैज्ञानिकों के शोध से यह जानकारी सामने आई है कि दुनियाभर के अलग-अलग देशों के कोरोना (Coronavirus symptoms) संक्रमितों में ये दो लक्षण प्रमुख तौर से देखे गए हैं। दावा है कि लक्षणों को लेकर पहली बार किसी देश में इस तरह का अध्ययन हुआ है।   

कमजोर हड्डियों से हैं परेशान तो अपनी डाइट में शामिल करें ये 5 तत्व…

शोधकर्ताओं ने 23 अप्रैल से 14 मई के बीच के आंकड़ों का विश्लेषण (Coronavirus symptoms) किया था, जब लंदन में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से हो रहा था। लंदन के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों से मिले आंकड़ों का अध्ययन करने पर शोधकर्ताओं ने पाया कि कोरोना संक्रमित 78 फीसदी मरीजों में सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता काफी हद तक या पूरी तरह (Coronavirus symptoms) खत्म हो गई थी। इनमें से 40 फीसदी मरीजों को न तो बुखार था और न ही खांसी-जुकाम के कोई लक्षण थे।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here