विकास दुबे के एनकाउंटर की कहानी, कितना सच कितना झूठ

आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मास्टरमाइंड विकास दुबे का एनकाउंटर कर दिया गया है। एनकाउंटर में गंभीर रूप से घायल हुए विकास दुबे की मौत हो गई है। इस एनकाउंटर में चार पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार ने एनकाउंटर की पुष्टि की है।

0
470
Vikas Dubey encounter

Uttar Pradesh: आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मास्टरमाइंड विकास दुबे का एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि कानपुर जिले से दो किलोमीटर दूर एसटीएफ की गाड़ी पलट गई। जिसके बाद विकास दुबे (Vikas Dubey Encounter) ने पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की।

गिरफ्तारी पर सियासत: विपक्ष ने सरकार पर उठाये सवाल, मां ने कहा ये..

गाड़ी पलटने के बाद घायल एसटीएफ के पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर विकास दुबे (Vikas Dubey Encounter) भागने की कोशिश कर रहा था। पुलिस के अनुसार, विकास दुबे ने भागते हुए फायरिंग कर दी। जिसे देख पुलिस टीम ने विकास दुबे पर जवाबी फायरिंग की। खबर के अनुसार गोली लगने से विकास दुबे गंभीर रूप से घायल हुआ था। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Vikas Dubey Arrest: पकड़ा गया या फिर किया सरेंडकर, पढ़े पूरा मामला

हालांकि पुलिस की इस कहानी पर कई सवाल भी खड़े हो रहे है, कहा जा रहा है कि जब इतने लाव-लश्कर के साथ पुलिस ने उसको पकड़ रखा तो फिर वह भागने में कैसे सफल हो गया। बता दे कि घटना स्थल में मौजूद कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने गोली की आवाज तो सुनी लेकिन गाड़ी का एक्सीडेंट नहीं हुआ था।

विकास दुबे हुआ गिरफ्तार, उज्जैन के महाकाल मंदिर से पकड़ा गया

वही कुछ मीडिया कर्मीयों का कहना है कि विकास दुबे को उज्जैन से फॉलो किया जा रहा था, और कानपुर तक भी पीछे-पीछे आए, लेकिन जहां एनकाउंटर हुआ, उससे एक किलोमीटर पहले ही मीडिया की गाड़ियों को रोक दिया गया था। उन्हें आगे नहीं जाने दिया गया। जिसके कुछ ही मिनट बाद गोलियां चलने की आवाज़ें आने लगी। उसके बाद मीडिया वालों की गाड़ियों को जाने दिया गया।

कुल मिलाकर विकास दुबे की कहानी खत्म होने के साथ ही कई सवाल खड़े हो गए है। लेकिन इनके जवाब हमेशा के लिए दफन हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here