UNGA में भारत ने पाक को लगाई फटकार, अयोध्या फैसले पर प्रोपेगेंडा को किया खारिज

अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले को लेकर पाकिस्तान ने भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNGA) में गलत प्रोपेगैंडा फैलाने की कोशिश की।

0
69
Indian diplomatic Vimarsh Aryan

अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले को लेकर पाकिस्तान ने भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNGA) में गलत प्रोपेगेंडा फैलाने की कोशिश की। भारत UNGA में पाकिस्तान को जमकर लताड़ा है। गुरुवार को अल्पसंख्यक मामले के फोरम के 12वें सत्र में भारतीय राजनयिक विमर्श आर्यन ने कहा, पाकिस्तान में ईशनिंदा के नाम पर धार्मिक-भाषाई अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित किया जाता है।

राइट टू रिप्लाई का प्रयोग करते हुए आर्यन ने कहा, ‘भारत एक मजबूत लोकतांत्रिक देश है। जहां स्वतंत्र और प्रभावी संवैधानिक प्रक्रिया है। यहां हर नागरिक के हितों की रक्षा की जाती है जिसमें धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के लिए पूरी स्वतंत्रता शामिल है। हम अपने न्यायिक निर्णयों पर पाकिस्तान की टिप्पणी को दृढ़ता से अस्वीकार करते हैं। वह यूएन के फोरम का गलत इस्तेमाल कर रहा है।’

भारतीय राजनयिक ने कहा, ‘दुनिया इस बात को अच्छी तरह से जानती है कि पाकिस्तान में तथाकथित ईशनिंदा कानून के कारण धार्मिक, नस्लीय, जातीय, सांप्रदायिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा है। इसी वजह से दुनिया अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा के लिए किसी ऐसे देश से सीख नहीं लेना चाहती, जहां लोगों ने कभी वास्तविक लोकतंत्र न देखा हो।’

आर्यन ने जवाब देते हुए आगे कहा, ‘यह फोरम अल्पसंख्यकों के मानवाधिकार मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए है। लेकिन, उस उद्देश्य का पालन करने के बजाय पाकिस्तान अपना प्रोपेगेंडा फैला रहा है, जो उसके बयान से स्पष्ट है, ये केवल गलत बयानबाजी है और कुछ नहीं।’

उल्लेखनीय है कि दिसंबर को न्यायालय की संवैधानिक पीठ ने 134 साल पुराने अयोध्या मामले पर फैसला सुनाया था। कोर्ट के इस निर्णय के मुताबिक, 2.77 एकड़ की विवादित भूमि को राम मंदिर बनाने के लिए दे दिया गया था। वहीं मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही पांच एकड़ जमीन देने के सरकार को निर्देश दिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here