फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ मुस्लिम समाज का विरोध, जानिए भारत में क्यों भड़की हिंसा

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून पर मुस्लिम देशों में जारी विरोध प्रदर्शन की आग अब भारत तक पहुंच गई है।

0
230
Violence in Farnce
फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून पर मुस्लिम देशों में जारी विरोध प्रदर्शन की आग अब भारत तक पहुंच गई है।

France: फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून पर मुस्लिम देशों में जारी विरोध प्रदर्शन (Violence in Farnce) की आग अब भारत तक पहुंच गई है। एक तरफ भोपाल में जहां फ्रांस के खिलाफ रैली निकाल रहे है। तो वहीं दूसरी तरफ मुंबई के भिंडी बाजार में रातोंरात फ्रांसिसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के पोस्टरों को लगा दिया गया, हालाकिं बाद में पोस्टर हटा दिए गए। इस बीच मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इस तरह की रैली निकालने को लेकर सख्त एक्शन (Violence in France) लेने की बात कही है। 

सऊदी अरब के बैंकनोट में इस बड़ी गलती को लेकर भारत ने जताई आपत्ति

बता दें बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी इस मुद्दे को लेकर (Violence in France) माहाराष्ट्र सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि आपकी सरकार होते हुए मुंबई में ऐसा कैसे हो सकता है?  भारत आज फ्रांस के साथ खड़ी है, जो जिहाद फ़्रान्स में हो रहा है, उस आतंकवाद के ख़िलाफ़ हिंदुस्तान के PM ने फ़्रांस के साथ मिल कर लड़ने का प्रयास किया है। 

पाकिस्तान ने पुलवामा में हुए हमले को कबूला, संसद में मंत्री ने कही ये बात

पूरे मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस (Violence in France) में एक गिरिजाघर में हुए हमले सहित हाल के दिनों में वहां हुई आतंकवादी घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ खड़ा है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘फ्रांस में आज एक गिरिजाघर में हुए हमले सहित हाल के दिनों में वहां हुई आतंकवादी घटनाओं की मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूं।” उन्होंने कहा, ‘‘पीड़ित परिवारों और फ्रांस की जनता के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ खड़ा है।” 

क्या है पूरा मामला

दरअसल इस विवाद की शुरुआत 16 अक्टूबर को हुई जब फ्रांस में सैमुअल पैटी (Violence in France) नाम के एक शिक्षक की स्कूल के पास ही गला काटकर हत्या कर दी गई।  सैमुअल पैटी ने अपने स्टूडेंट्स को पैगंबर मोहम्मद के कार्टून दिखाए थे। सैमुअल पैटी की हत्या से फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों बेहद नाराज हुए और उन्होंने पैटी के प्रति सम्मान जाहिर किया।  इसके बाद पैटी को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया गया और इस समारोह में खुद मैक्रों शामिल हुए। उन्होंने इसे इस्लामिक आतंकवाद करार दिया था। कई इस्लामिक देशों को यह सहन नही हुआ और उन्होंने पैगंबर का अपमान करने वाले को सम्मानित किए जाने की निंदा की।

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here