चीन दूसरे देशों के साथ युद्ध लड़ने का इरादा नहीं रखता- शी जिनपिंग

चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि किसी भी देश को दुनिया पर हावी नहीं होने देना चाहिए और विकास के सभी सुविधाओं को अपने पास रखना चाहिए।

0
292
United Nations General Assembly
UNGA में शी जिनपिंग बोले- चीन दूसरे देशों के साथ युद्ध लड़ने का इरादा नहीं रखता

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) के 75वें सत्र में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग (Xi Jinping) ने मंगलवार को कहा कि उनका देश किसी भी तरह का युद्ध लड़ने का इरादा नहीं रखता। उन्होंने कहा कि चीन दूसरे देशों के साथ मतभेदों को कम करने और विवादों को संवाद और बातचीत के जरिये सुलझाना जारी रखेगा। चीनी राष्ट्रपति ने अप्रत्यक्ष रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump)  के हमलों और भारत के साथ लद्दाख में सीमा तनाव के बीच अपना बयान जारी किया।

अमेरिका-ताइवान दोस्ती से बौखलाया चीन, दी कब्जे की धमकी

जिनपिंग ने  (United Nations General Assembly) कहा, ”दुनिया को सभ्यताओं की लड़ाई में नहीं फंसना चाहिए। बड़े देशों को बड़े देशों जैसे ही काम करने चाहिए.’’ चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि किसी भी देश को दुनिया पर हावी नहीं होने देना चाहिए और विकास के सभी सुविधाओं को अपने पास रखना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र को और अधिक संतुलित बनाने के लिए विकासशील देशों के प्रतिनिधित्व को बढ़ाने की आवश्यकता पर जोर देना चाहिए।

इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को खूब खरीखोटी सुनाई। उन्होंने अपने भाषण के दौरान कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए संयुक्त राष्ट्र चीन को जिम्मेदार ठहराए। उन्होंने यूएन के मंच से विश्व स्वास्थ्य संगठन पर भी जमकर हमला बोला। ट्रंप ने कहा कि इस संस्थान पर चीन का पूरा नियंत्रण है। इसलिए डब्लूएचओ (WHO) ने झूठ कहा कि कोरोना वायरस के मानव निर्मित होने के सबूत नहीं हैं।

नेपाल को मोहने लिए चीन ने नेपाली समकक्षों को भेजा मैसेज

ट्रंप ने अपने भाषण के दौरान कोरोना वायरस को चीनी वायरस कहकर संबोधित किया। उन्होंने कहा कि द्वितीय विश्वयुद्ध के अंत और संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75 साल बाद हम एक बार फिर महान वैश्विक संघर्ष कर रहे हैं। हमने अदृश्य दुश्मन चीनी वायरस के खिलाफ भयंकर युद्ध छेड़ दिया है। इस वायरस ने दुनिया के 188 देशों में अनगिनत लोगों को मारा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here