ब्रिटेन ने इस वैक्सीन के इस्तेमाल की दी मंजूरी, अगले हफ्ते लगेगा टीका

ब्रिटेन में अगले हफ्ते से फाइजर की कोरोना वैक्सीन लोगों को लगाने के लिए उपलब्ध होगी। यूके अथॉरिटी ने इसके लिए मंजूरी दे दी है।

0
330
Pfizer India
इस कंपनी ने भारत में वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मांगी इजाजत

London: कोरोना वैक्सीन को लेकर एक खुशखबरी सामने आई है। ब्रिटेन ने फाइजर और बायोएनटेक (UK Approves Pfizer Vaccine) की कोरोना वायरस वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। मिली जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन में अगले हफ्ते से फाइजर की कोरोना वैक्सीन लोगों को लगाने के लिए उपलब्ध होगी। यूके अथॉरिटी ने इसके लिए मंजूरी दे दी है।

क्या आ गया कोरोना वायरस का टीका? इन्होंने परिवार संग लगवा ली सीक्रेट वैक्सीन

अमेरिकी कंपनी फाइजर ने जर्मनी की बायोएनटेक के साथ मिलकर इस वैक्सीन को तैयार (Pfizer Vaccine-BioNTech Coronavirus) किया है। फेज 3 ट्रायल में इसे 95% तक असरदार बताया गया है। ट्रायल के नतीजों के आधार पर यह अबतक की सबसे असरदार वैक्‍सीन मानी जा रही है। बता दें कि फाइजर की वैक्‍सीन को शून्‍य से भी कम तापमान पर स्‍टोर करना पड़ता है जो इसकी सबसे बड़ी खामी है।

इसी के साथ आप ये जान लें कि फाइजर की कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह से मंजूरी देने वाला ब्रिटेन दुनिया का पहला देश बन गया है। ब्रिटेन में कोरोना के मामलों की बात करें तो वहां इस वायरस से करीब 59 हजार लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। ब्रिटेन कोरोना के संक्रमण में सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है। इससे पहले रूस अपनी स्पूतनिक-V वैक्सीन को इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है।

UK के इन शहरों में लगेगा प्रतिबंध, अपनों से भी मिलना मुश्किल!

ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब ने पहले एक इंटरव्यू में कहा था कि अगले हफ्ते से ब्रिटेन में वैक्सीन (UK Approves Pfizer Vaccine) उपलब्ध करा दी जाएगी। फाइजर और बायोएनटेक की इस वैक्सीन के लिए ब्रिटेन ने चार करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया है जो कि 2 करोड़ लोगों के टीकाकरण के लिए पर्याप्त हैं। इसके अलावा इसके अलावा वैक्सीन की एक करोड़ खुराक जल्द ही उपलब्ध करवाई जाएगी।

ब्रिटेन की इस वैक्सीन के बारे में बताएं तो यह वैक्सीन का एक नया प्रकार है जिसे एमआरएनए वैक्सीन कहा जाता है। ये वैक्सीन शरीर को कोविड-19 से लड़ने के लिए सक्षम है। इस एमआरएनए वैक्सीन को पहले कभी भी मनुष्यों में उपयोग नहीं किया गया, हालांकि लोगों को क्लिनिकल ट्रायल के रूप में जरूर ये वैक्सीन दी जा चुकी है।’

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here