नेपाल के बाद पाकिस्तान ने भारत के इन हिस्सों पर ठोका दावा

पाकिस्तान ने नए मैप में जहां भारतीय क्षेत्रों पर अपना दावा ठोका है, साथ ही चीन और भारत के बीच विवाद हिस्सों को 'अनडिफाइंड फ्रंटियर' करार दिया है।

0
250
Pakistan New Map
नेपाल के बाद पाकिस्तान ने भारत के इन हिस्सों पर ठोका दावा

Delhi: नेपाल (Nepal) के बाद पाकिस्तान (Pakistan) भी उसकी राह पर चलने लगा है। पाकिस्तान में मंगलवार को हुई बैठक के दौरान प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश का नया नक्शा (Pakistan New Map) जारी कर डाला है नक्शे में लद्दाख, जम्मू-कश्मीर के सियाचिन समेत गुजरात के जूनागढ़ तक पर दावा ठोका गया है। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में पाकिस्तान पहले भी दावा ठोकता रहा है। लेकिन इस बार उसने गुजरात के जूनागढ़ को भी नक्शे में शामिल किया है। पाकिस्तान ने यह कदम जम्मू-कश्मीर से भारत सरकार के आर्टिकल 370 हटाए जाने की पहली सालगिरह यानी 5 अगस्त से पहले उठाया है।

Ayodhya Ram Mandir Live Update: जानें राम मंदिर के भूमि पूजन से जुड़ी हर एक अपडेट

इमरान खान की कैबिनेट बैठक में जारी इस मैप में सियाचिन को पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने यह ऐलान करते हुए दावा किया है कि भारत ने यहां अवैध तरीके से निर्माण करा रखा है। यही नहीं, यह मानते हुए कि सर क्रीक में भारत के साथ उसका विवाद है, पाकिस्तान ने साफ कह दिया है कि उसने इस इलाके को अपने नक्शे (Pakistan New Map) में शामिल कर लिया है। पाकिस्तान ने नए मैप में जहां भारतीय क्षेत्रों पर अपना दावा ठोका है, साथ ही चीन और भारत के बीच विवाद हिस्सों को ‘अनडिफाइंड फ्रंटियर’ करार दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक अब पाकिस्तान यह नक्शा संयुक्त राष्ट्र के सामने पेश करने की तैयारी में है।

PM Modi in Ayodhya: राम हमारे मन में बसे हैं, पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

आपको बता दें, एक दिन पहले ही नियंत्रण रेखा पर शाह और देश के रक्षामंत्री पहुंचे थे और उन्होंने कहा था कि कश्मीर के लोगों को आजादी का हक देने के समर्थन में हैं। इसके एक दिन बाद ही सरकार ने खुद ही पूरे-के-पूरे कश्मीर पर ही अपना दावा ठोक दिया है। इससे पहले भारत के साथ सीमा विवाद के बाद नेपाल ने भी ऐसा ही किया था। लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा को अपना बताते हुए नेपाल सरकार ने अपने देश का नया नक्शा जारी कर दिया। इसके बाद इस नक्शे को संसद में पारित करा लिया। खास बात यह है कि हाल ही में नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली ने कहा कि देश का चीन के साथ कोई सीमा विवाद नहीं है, सिर्फ भारत के साथ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here