भारत और ताइवान की ट्रेड डील पर चीन क्यों हुआ खफा?

0
547
One-China policy
इन दिनो भारत और ताइवान के बीच ट्रेड डील को लेकर दोस्ती बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। इस बात को लेकर चीन में खलबली मची हुई है।

China: इन दिनो भारत और ताइवान के बीच ट्रेड डील (One-China policy) को लेकर दोस्ती बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। इस बात को लेकर चीन में खलबली मची हुई है। पड़ोसी मुल्कों के साथ रिश्तों में पैदा हो रही तनातनी ने कुछ मुल्कों को एक साथ खड़ा कर दिया है। भारत और ताइवान भी ऐसे ही दो मुल्क हैं। बता दें भारत और चीन के बीच पिछले कई दिनों (One-China policy) से लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) को लेकर विवाद चल रहा है। यहां दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने खड़ी हैं और राजनयिक और सैन्य स्तर पर बातचीत के बावजूद इस समस्या का अब तक कोई हल नहीं निकल रहा है। 

भारत-चीन सीमा विवाद के बीच सुरक्षाबलों ने चीनी सैनिक को पकड़ा

भारत के विपक्षी दलों के नेताओं का आरोप है कि चीन भारतीय सीमा (One-China policy) का उल्लंघन किया है और उसकी सेनाएं लद्दाख के भारतीय हिस्से में काफी अंदर तक घुस आई हैं। विपक्षी नेता केंद्र की मोदी सरकार पर चीनी फौजों को बाहर खदेड़ने में नाकाम रहने और देश के लोगों से सच्चाई छिपाने जैसे गंभीर आरोप लगा रहे है।

खास बता यह है कि भारत-ताइवान (One-China policy) के मजबूत होते रिश्तों का श्रेय अगर किसी को जाता है, तो वह चीन ही है। बीते 10 अक्टूबर को ताइवान के राष्ट्रीय दिवस को लेकर जब भारत की मीडिया ने कवरेज की, तो इसके बाद भारत में मौजूद चीनी दूतावास की ओर से भारतीय मीडिया को “निर्देश” जारी किए गए कि भारतीय मीडिया को “वन चाइना पॉलिसी” का पालन करना चाहिए। चीन का यह कदम एक ब्लंडर साबित हुआ जिसके बाद भारत की मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक ताइवान ट्रेंड करने लगा था। 

भारत के इतिहास में पहली बार होगी इस महंगे मसाले की खेती

दरअसल Foxconn, Wistron और Pegatron जैसी ताइवान के मोबाइल निर्माता कंपनियों को अपनी पाँच साल incentive scheme में शामिल करने का फैसला ले चुकी है। इसी के साथ-साथ ताइवान भी अपनी Southbound पॉलिसी के तहत भारत में बड़े पैमाने पर (production bases) को स्थापित करने की तैयारी कर रहा है। ताइवान के उप-विदेश मंत्री (Tien Chung-kwang) के मुताबिक “भारत एक लोकतंत्र देश है, भारत एक बढ़िया investment destination है, भारत में skilled labour मौजूद है, ऐसे में हम भारत को अपने (production bases) का केंद्र बना सकते हैं।”

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here