Omicron वेरिएंट के लिए आई खास वैक्सीन, जानिए क्या है अलग

0
240
omicron vaccine

Omicron Vaccine: दुनियाभर में कोरोना(Corona) के मामलों में फ़िर एक बार उछाल आने लगा है. इसी बीच ब्रिटेन (Britain) ने अमेरिकी फार्मा कंपनी मॉडर्ना (Moderna) की अपडेटेड वैक्सीन को मंजूरी दे दी गयी है. दावा किया जा रहा है कि ये अपडेटेड वैक्सीन(Updated Vaccine),ओमिक्रॉन (Omicron) पर भी असरदार है. ब्रिटेन(Britain) पहला देश बन गया है जिसने मॉडर्ना (Moderna) की अपडेटेड कोविड वैक्सीन (Updated covid vaccine) को मंजूरी दी है.

एक्सपर्ट कि माने तो वह पहले ही चेतावनी दे चुके थे कि कोरोना की वैक्सीन को समय-समय पर अपडेट करने की जरूरत पड़ेगी ऐसा इसलिए क्योंकि समय के साथ इम्युनिटी भी कमजोर होने लगती है और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है.

इसी बात को ध्यान में रखते हुए मॉडर्ना ने ये वैक्सीन को तैयार किया है. मॉडर्ना का दावा है कि उनकी वैक्सीन ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट (Sub Variant) BA.1 के साथ-साथ कोरोना के मूल स्ट्रेन (Strain) के खिलाफ भी असरदार है. कोरोना का मूल स्ट्रेन यानी (जो वायरस 2020 में फैला था). 2020 में वायरस फैलने के बाद इसके कुछ अलग-अलग वेरिएंट सामने आ चुके हैं इसलिए इन वेरिएंट से बचने के लिए अपडेटेड वैक्सीन कि जरुरत है.

जानिए क्या है वैक्सीन की खासियत?

यूके (UK) की मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (MHRA) ने मॉडर्ना की वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दी है. ये वैक्सीन 18 साल से ऊपर के लोगों को बूस्टर डोज (Booster Dose) के तौर पर दी जाएगी.
इस वैक्सीन को बायवालेंट (Bivalent) नाम दिया गया है. बायवालेंट का मतलब होता है कि ऐसी वैक्सीन जो दो अलग-अलग वायरस (Virus) या एंटीजन्स (Antigens) पर असरदार हो.

MHRA ने बताया कि बूस्टर वैक्सीन की खुराक 50 माइक्रोग्राम्स (Micrograms) की होगी. इसका 25 माइक्रोग्राम वायरस के मूल स्ट्रेन और 25 माइक्रोग्राम ओमिक्रॉन को टारगेट करता है.

MHRA प्रमुख डॉ. जून रेन ने बताया कि क्लिनिकल ट्रायल (Clinical Trial) में ये वैक्सीन ओमिक्रॉन के BA.1 के साथ-साथ ओरिजिनल स्ट्रेन पर भी असरदार साबित हुई है.

क्यों अलग है ये वैक्सीन

वेसे तो अभी दुनिया में कोरोना के खिलाफ कई वैक्सीन (Omicron Vaccine) आ गई हैं लेकिन ये वैक्सीन अभी कोरोना के ओरिजिनल स्ट्रेन को ही टारगेट करती हैं.

लेकिन 2020 के बाद से कोरोना के अब तक कई सारे वैरिएंट्स सामने आ चुके हैं. इनमें ओमिक्रॉन सबसे ज्यादा संक्रामक माना जाता है.

पिछले साल नवंबर में साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला था. इसके बाद भारत समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना की नई लहर शुरू हो गई थी.

इसलिए मॉडर्ना ने अपनी वैक्सीन को अपडेट किया है कंपनी का दावा है कि उसकी वैक्सीन ओमिक्रॉन के वैरिएंट ऑफ कंसर्न BA.1 पर असरदार रही है. साथ ही ओरिजिनल स्ट्रेन को भी टारगेट करती है जबकि अभी जो वैक्सीन हैं वो सिर्फ ओरिजिनल स्ट्रेन को ही टारगेट करती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here