एक मां ही है जिसका प्यार निस्वार्थ होता है –

मां तू ही संसार मेरा
तू नहीं तो मैं कुछ भी नहीं
मां के कदमों में है जन्‍नत
मां के पास है सुकून

Mother’s Day: मां एक ऐसा शब्द है जिसे बया नहीं किया जा सकता, मां (Mother’s Day 2021) खुद में बहुत बड़ा शब्द है। एक मां का ही रिश्ता निस्वार्थ होता है। बाकी सभी रिश्तों में कुछ ना कुछ चुकाना होता है। ये शब्द कहने से ही सबसे बड़ी पूजा हो जाती है। और बरसता है भगवान का आशीर्वाद। हर साल हम (Mother’s Day) मनाते है। इस बार 9 मई को बनाया जाएगा।

जानिए क्यों मनाया जाता है यह दिन… इसका इतिहास और महत्व

क्यों और कब हुई शुरुआत

कहा जाता है कि अंतर्राष्ट्रीय मदर्स डे मनाने की शुरुआत अमेरिका से हुई थी। साल 1912 में जब एना जार्विस नाम की अमेरिकी कार्यकर्ता ने अपनी मां के निधन पर Mother’s Day बनाया था। अहम बात ये है कि पूरे विश्व में मदर्स डे की तारीख को लेकर एक राय नहीं है। भारत में इसे मई के दूसरे संडे के दिन मनाया जाता है जो इस बार 9 मई को होगा। बोलीविया में इसे 27 मई को मनाया जाता है। आज़ादी की लड़ाई में हिस्सा ले रहीं बोलीविया की महिलाओं की हत्या स्पेन की सेना ने की थी। इस वजह से भी मदर्स डे मनाया जाता है।

महिला ने एक्स बॉयफ्रेंड को मारने की रची साजिश, किस्मत को कुछ और था मंजूर

मां को लेकर बनी फिल्में

बॉलीवुड में मां (Mother’s Day) को लेकर कई फिल्में भी बनी है। जैसे मदर इंडिया साल 1957 में आई थी। इंग्लिश विंग्लिश, ये फिल्म 2012 में रिलीज हुई थी। मॉम, ये फिल्म 2017 में बनाई गई थी।

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here