तनाव भरी जिंदगी में कैसे रहे खुश, जानें क्यों बनाया जाता है ये दिन

खुशी कितनी जरुरी होती है इसका अंदाजा तो आप सबको है। जीवन में छोटी-छोटी चीजे आपको खुश कर सकती है।

0
259
International Day of Happiness
खुशी कितनी जरुरी होती है इसका अंदाजा तो आप सबको है। जीवन में छोटी-छोटी चीजे आपको खुश कर सकती है।

Day of Happiness: जिंदगी के लिए खुशी कितनी जरुरी होती है इसका अंदाजा (International Day of Happiness) तो आप सबको है। लेकिन इस मुस्कुराहट को बरकरार रखना बेहद मुश्किल लगता है। जीवन में छोटी-छोटी चीजे आपको खुश कर सकती है। लेकिन कई बार बड़ा करने के चक्कर (International Day of Happiness) में आप जिंदगी जीना भूल जाते है- 

एक दर्जन मास्क ऑर्डर करने पर मिले ‘सिर्फ 12’, मांगा Refund

जैसे उसकी कार मेरी कार से बड़ी है? मुझे नौकरी में तरक्की नहीं मिल रही? उसके पास ये है तो मेरे पास क्यों नहीं, इन्हीं सब चीजों के बारे में सोचकर आप बेवजह दु:खी होने (International Day of Happiness) लगते है। जबकि अगर आप चाहे आपको खुशी हर वक्त हर चीज में मिल सकती है।

क्यों बनाते है ये दिन

पूरी दुनिया (International Day of Happiness) में ये दिन 20 मार्च को बनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 12 जुलाई 2012 को इसे मनाने का संकल्प लिया था। संयुक्त राष्ट्र के लिए इस दिवस को मनाने के पीछ मशहूर समाज सेवी जेमी इलियन के प्रयासों का नतीजा था। उन्हीं के विचारों ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव जनरल बान की मून को प्रेरित किया और 20 मार्च 2013 को इंटरनेशल डे ऑफ हैप्पीनेस घोषित कर दिया। 

सरकार का बड़ा फैसला, इस देश में बुर्के पर लगेगी रोक

2021 की थीम

इस साल कोविड-19 (Corona Virus) का प्रभाव जारी है जो पिछले साल बहुत ज्यादा था। कोविड महामारी को ध्यान में रखते हुए इस साल की थीम है। शांत रहें, बुद्धिमान रहें और दयालु रहें।

क्यों रखी गई थीम

इस थीम को रखने का उद्देश्य कोरोना महामारी के बीच निराश हुए लोगों को खुश करना हैं। बुद्धिमत्तापूर्ण चुनाव सभी के लिए मददगार होंगे और हमें सकारात्मक बनाए रखेंगे। साथ ही एक दूसरे के प्रति दया भाव कायम रखना होगा। कोरोना काल में इसकी हमें सबसे ज्यादा जरूरत है।

बढ़ गया तनाव का फीसद

लॉकडाउन के बाद से लोगों में तनाव बढ़ता देखा गया है। पहले 60 फीसदी लोग तनाव में थे, तो अब 90 फीसदी लोग तनाव में चल रहे है।
इनमें भी कामकाजी युवा, छात्र और महिलाएं ज्यादा हैं। 

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here