भारतीय उच्चायोग के कर्मीयों के साथ पाकिस्तान का अमानवीय व्यवहार

दोनों पीड़ितों ने बताया कि उन्हें 12 घंटे तक हिरासत में रखकर लोहे की रॉड से पिटाई भी की गई. साथ ही जब इन्होनें पानी मांगा तो इन्हें गंदा पानी पीने के लिए भी मजबूर किया गया.

0
327
Pakistan
Pakistan PM Imran Khan

Islamabad: 15 जून को पाकिस्तान (Pakistan) के इस्लामाबाद (Islamabad) में हिरासत में लिए गए भारतीय उच्चायोग (Indian High Commission) के कर्मियों ने बताया है कि उनके साथ पाकिस्तानी पुलिस (Pakistan Police) ने अमानवीय व्यवहार किया. दोनों पीड़ितों ने बताया कि उन्हें 12 घंटे तक हिरासत में रखकर लोहे की रॉड से पिटाई भी की गई. इसके अलावा जब इन दोनों ने पानी मांगा तो इन्हें गंदा पानी पीने के लिए भी मजबूर किया गया. जानकारी के अनुसार दोनों अधिकारियों के शरीर पर चोटों के काफी निशान मौजूद हैं.

पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के दो कर्मचारी लापता

भारतीय उच्चायोग के ये दोनों कर्मी कल सुबह पाकिस्तान (Pakistan) के इस्लामाबाद (Islamabad) में लापता हो गए थे और बाद में जानकारी मिली कि इन्हें पाकिस्तानी पुलिस (Pakistan Police) ने एक कथित ‘हिट एंड रन’ केस में हिरासत में लिया है. इन दोनों ने बताया कि इन्हें हथकड़ी लगाकर और आंखों पर पट्टी बांधकर ले जाया गया था. इन्हें 12 घंटे तक भारतीय उच्चायोग (Indian High Commission) के पास ही मौजूद किसी जगह पर हिरासत में रखा गया था जिससे उच्चायोग के अधिकारियों की प्रतिक्रिया पर भी नज़र रखी जा सके.

सीमा विवाद पर नेपाल ने किये बातचीत के दरवाजे बंद

दोनों भारतीय अधिकारियों की पहचान पॉल सिल्वादेस और द्विमू ब्रह्म के रूप में हुई है. इन्होंने बताया कि इनकी गाड़ी को करीब 6 वाहनों ने घेर लिया था. उनकी आंखों पर पट्टी बांधकर एक अज्ञात जगह पर ले जाया गया जहां 6 घंटे तक उनसे पूछताछ और मारपीट की जाती रही. भारतीय अफसरों ने बताया कि उन्हें बार-बार लोहे की रॉड, लकड़ी के डंडे से पीटा गया और गंदा पानी पाने के लिए भी मजबूर किया गया.

मिली जानकारी के मुताबिक इन दोनों से उच्चायोग में काम कर रहे सभी लोगों की निजी जानकारी मांगी जा रही थी. मिली जानकारी के मुताबिक रात करीब 9 बजे इन दोनों अधिकारियों को वापस भारतीय उच्चायोग को सौंप दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here