विरोध के बीच 1,700 रोहिंग्याओं को निर्जन द्वीप पर भेजा

दक्षिणी पोर्ट सिटी चिट्टगांव से किसी एकांत द्वीप पर ले जाया गया है। इन सभी को बिना परमिशन के ही ले जाया गया है।

0
240
Five Bangladesh navy ships
दक्षिणी पोर्ट सिटी चिट्टगांव से किसी एकांत द्वीप पर ले जाया गया है। इन सभी को बिना परमिशन के ही ले जाया गया है।

Bangladesh: बांग्लादेश में मानवाधिकार समूह के विरोध करने के बावजूद पांच जहाजों (Five Bangladesh navy ships) में मंगलवार को 1,700 रोहिंग्या शरणार्थियों को दक्षिणी पोर्ट सिटी चिट्टगांव से किसी एकांत द्वीप पर ले जाया गया है। यानी इन सभी को बिना परमिशन के ही ले जाया गया है। इस प्रकिया से जुड़े एक सरकारी अधिकारी ने नाम नहीं लेने की शर्त पर बताया कि तीन घंटे की यात्रा पूरी करके इन शरणार्थियों को भाषण चार आइलैंड पहुंचाया (Five Bangladesh navy ships) जा रहा है। 

महिलाओं के हक के लिए आवाज उठाने वाली इस एक्टिविस्ट को हुई जेल…

खास बात ये है कि एक लाख लोगों के रहने की इंतजाम (Five Bangladesh navy ships) किया गया है। विदेश मंत्री अब्दुल मोमेन ने कहा, ‘ये द्वीप पूरी तरह सुरक्षित है।’ बता दें 2017 में म्यांमार में सैन्य कार्रवाई के चलते करीब सात लाख रोहिंग्या मुस्लिम भागकर बांग्लादेश में चले आए थे। बांग्लादेश ने बाद में द्विपक्षीय समझौते के दौरान रोहिंग्या मुस्लिमों को म्यांमार भेजने का सोचा था, लेकिन किसी ने भी स्वदेश वापसी के लिए नहीं कहा। 

क्या साल 2020 इतना बुरा था? जानिए 2020 से पहले क्या क्या हुआ

अगर अधिकारियों की बात की जाए तो बांग्लादेश ने दक्षिणपूर्व कॉक्स (Five Bangladesh navy ships)  बाजार के घने शरणार्थी शिविरों में रह रहे 11 लाख रोहिंग्याओं में से 100,000 शरणार्थियों के रुकने को कहा गया है। कॉक्स बाजार म्यामांर के रखाइन प्रांत से सटा हुआ क्षेत्र है। सहायता एजेंसियों और मानवाधिकार संगठनों ने इस डर से रोहिंग्याओं को इस द्वीप पर भेजने पर आपत्ति की है कि उसके चक्रवात और जलवायु परिवर्तन की चपेट में आने की आशंका बनी रहती है। 

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here