कोरोना महामारी से जुड़ी सनसनीखेज कहानी, जानिए पूरी डिटेल

नई रिसर्च में खुलासा हुआ है कि कोरोना के बदलते लक्षण से मेडिकल साइंस भी हैरान हो गया है। दूसरी लहर खतरनाक बनती जा रही है।

0
207
Covid-19 Pandemic
नई रिसर्च में खुलासा हुआ है कि कोरोना के बदलते लक्षण से मेडिकल साइंस भी हैरान हो गया है। दूसरी लहर खतरनाक बनती जा रही है।

Corona Virus: कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक (Covid-19 Pandemic) बनती जा रही है। साथ ही रहस्यमयी होती जा रही है। नई रिसर्च में खुलासा हुआ है कि कोरोना के बदलते लक्षण से मेडिकल साइंस भी हैरान हो गया है। कोरोना वायरस (Covid-19 Pandemic) की वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोगों को कोरोना हो रहा है, ये आचर्यजनक हैं। 

World War का खतरा ! एक महीने में छिड़ सकती है जंग

इस बार का कोरोना (Corona Virus) युवाओं और बच्चों को भी चपेट में ले रहा हैं। लेकिन, अब WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अलग-अलग कोरोना संक्रमितों में अलग-अलग लक्षण मिल रहे हैं और भारत में नए मामलों को लेकर जो स्टडी हुई है, उसके मुताबिक भी बदलते स्ट्रेन की वजह से लक्षण बदल रहे हैं।

आपको बता दें इससे पहले नए कोरोना वायरस (Corona Virus) के ‘साइलेंट स्प्रेडर’ सिंगापुर के डॉक्टरों को हुआ था। 19 जनवरी 2020 को जब सिंगापुर की एक चर्च में लोग सर्विस के लिए जमा हुए थे, तो उन्हें इस बात का अंदाज़ा नहीं था कि उनकी इस प्रार्थना सभा का असर पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के प्रसार पर पड़ सकता है।

ये दिन रविवार का था और चर्च में बाकी दिनों की तरह प्रार्थना चल रही थी। ‘द लाइफ़ चर्च ऐंड मिशन्स’ की ये प्रार्थना सभा, एक इमारत के ग्राउंड फ्लोर पर हो रही थी। इसमें पति पत्नी का एक जोड़ा भी शामिल था, जो उसी सुबह चीन से सिंगापुर (Covid-19 Pandemic) आया था। दोनों की ही उम्र 56 की थी। 

भारत में कोरोना की नई लहर, सरकार ने भारतीयों के आने पर लगाई रोक

दरअसल, इस बार कोरोना (Corona Alert) के लक्षण बदल गए है। पहले बुखार, थकान, सर्दी, जुकाम और टेस्ट नहीं आना था, लेकिन अब पेट दर्द, उल्टी, दस्त, भूख न लगना, कमजोरी और जोड़ों में दर्द हो गया है। नई रिपोर्ट के मुताबिक ब्राजील और केंट के कोरोना वैरिएंट्स ज्यादा ताकतवर हैं और इनकी वजह से नए तरह के लक्षण सामने आ रहे हैं।

हो रही है कालाबजारी

750 से 1400 रुपये के होलसेल रेट वाले इंजोक्शन बाजार में 1200 से 6000 तक के दिए जा रहे है। इसलिए कलेक्टर ने आदेश दिए हैं कि अब रेमडेसिविर इंजेक्शन लेने के लिए कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट के साथ आधार कार्ड और डॉक्टर की डिमांड पर्ची दिखानी होगी। 

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here