कोरोना वायरस की वैक्‍सीन को लेकर इजरायल का दावा

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्‍याहू के कार्यालय के अंतर्गत चलने वाले बेहद गोपनीय इजरायल इंस्‍टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रीसर्च के दौरे के बाद बेन्‍नेट ने यह ऐलान किया था।

0
318
Corona Vaccine For Kids
बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन बनाएगा चीन, इस शुरु होगा ट्रायल

Delhi: दुनियाभर में कोरोना का कहर जारी है और हर देश कोरोना वायरस (Corona Virus) की वैक्सीन (Corona Vaccine) खोजने में जुड़ा हुआ है। इसी बीच इजरायल (Israel) ने दावा किया कि उसने कोरोना वायरस पर एक ‘जादुई असर’ करने वाली वैक्‍सीन (Vaccine) खोज निकाली है। इजरायल ने कहा कि अभी उसे इंसानों पर परीक्षण के लिए सरकारी अनुमति लेनी होगी। इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गांट्ज ने इजरायल इंस्‍टीट्यूट ऑफ बॉयोलॉजिकल रिसर्च का दौरा कर इस वैक्‍सीन के बारे में जानकारी ली है। इंस्‍टीट्यूट के डायरेक्‍टर प्रोफेसर शैमुअल शपिरा ने उन्‍हें इस नई इजरायली वैक्‍सीन के बारे में उन्‍हें जानकारी दी।

बेरूत धमाके में जर्मनी दूत समेत 135 की मौत, 5 भारतीय घायल

इजरायल के रक्षा और प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि एक बेहद शानदार वैक्‍सीन (Corona Vaccine) बन गई है और इसके इंसानों पर ट्रायल के लिए प्रक्रिया जारी है। इंस्‍टीट्यूट के डायरेक्‍टर ने कहा कि हम शरदकालीन छुट्टियों के बाद इस वैक्‍सीन का इंसानों पर ट्रायल शुरू करेंगे। हालांकि यह वैक्‍सीन अब बनकर हमारे हाथ में आ गई है। शपीरा ने कहा कि उन्‍हें अपनी वैक्‍सीन पर गर्व है। इस बयान में यह नहीं बताया गया है कि कब तक वैक्‍सीन का इस्‍तेमाल हो सकेगा। इससे पहले मई महीने में इजरायल के रक्षा मंत्री नफताली बेन्‍नेट ने दावा किया था कि देश के डिफेंस बायोलॉजिकल इंस्‍टीट्यूट ने कोरोना वायरस का टीका बना लिया है। उन्‍होंने कहा कि इंस्‍टीट्यूट ने कोरोना वायरस के एंटीबॉडी को तैयार करने में बड़ी सफलता हासिल की है।

भारत के बाद अब अमेरिका ने भी लगाया Chinese App TikTok पर बैन

रक्षा मंत्री बेन्‍नेट ने बताया था कि कोरोना वायरस वैक्‍सीन के विकास का चरण अ‍ब पूरा हो गया है और शोधकर्ता इसके पेटेंट और व्‍यापक पैमाने पर उत्‍पादन के लिए तैयारी कर रहे हैं। इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्‍याहू के कार्यालय के अंतर्गत चलने वाले बेहद गोपनीय इजरायल इंस्‍टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रीसर्च के दौरे के बाद बेन्‍नेट ने यह ऐलान किया था। रक्षा मंत्री के मुताबिक यह एंटीबॉडी मोनोक्‍लोनल तरीके से कोरोना वायरस पर हमला करती है और बीमार लोगों के शरीर के अंदर ही कोरोना वायरस का खात्‍मा कर देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here