क्या साल 2020 इतना बुरा था? जानिए 2020 से पहले क्या क्या हुआ

अगर हम 2020 की बात करें तो कई लोगों के लिए ये साल कयामत लाने वाला रहा है और उदासीनता भरा हुआ भी रहा है।

0
107
Corona Alert 2020
अगर हम 2020 की बात करें तो कई लोगों के लिए ये साल कयामत लाने वाला रहा है और उदासीनता भरा हुआ भी रहा है।

Corona Virus: 2020 खत्म होने में अब बस चार दिन बाकी है। नया साल नए लोग और कुछ नया करने की उम्मीद किसे नहीं होती। लेकिन अगर हम 2020 (Corona Alert 2020) की बात करें तो कई लोगों के लिए ये साल कयामत लाने वाला रहा है और उदासीनता भरा हुआ भी रहा है। कोरोना महामारी की वजह से इस साल कई लोगों ने अपनों को खोया (Corona Alert 2020) है। 

ब्रिटेन के बाद इस शहर में पहुंचा म्यूटेंट स्ट्रेन, 70 फीसदी से ज्यादा संक्रमित

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी (Corona Alert 2020) के आंकड़े के अनुसार, 17 दिसंबर तक कोविड-19 की वजह से दुनिया भर में 7.45 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं और पूरी दुनिया में इससे 16 लाख लोगों की जान जा चुकी है।लेकिन यह दुनिया की सबसे बुरी महामारी नहीं है। इससे कहीं ज्यादा बुरी महामारी दुनिया झेल चुकी है। उन्हीं महामारियों में से एक ब्लैक डेथ है। यूरोप में इस बीमारी की वजह 1346 के बाद से ढाई करोड़ और पूरी दुनियाभर में 20 करोड़ लोग मारे गए थे। तो हम ये नहीं मान सकते कि साल 2020 बहुत ज्यादा खराब रहा।

महामारी की वजह से खराब अर्थव्यवस्था (International News in Hindi) ने कई लोगों की रोजी-रोटी दुनिया भर में छीन ली। हालांकि, बेरोजगारी का स्तर अब भी 1929 से 1933 तक चली मंदी के बराबर नहीं पहुंचा है।बेरोजगारी के लिहाज से 1933 सबसे खराब साल रहा था। जर्मनी में हर तीन में से एक आदमी उस वक़्त बेरोजगार था।

साल 2020 में हम अपनों से मिलजुल नहीं (International News in Hindi) सके, लेकिन 536 ईस्वी में दुनिया के ज्यादातर लोग खुला आसमान भी नहीं देख पाए थे। हार्वर्ड के इतिहासकारों की माने तो यूरोप, मध्य-पूर्व और एशिया के कई हिस्सों में रहस्यमयी धुंध करीब 18 महीनों तक छाया था। उनका मानना है कि यह ‘सबसे बुरा दौर था’। यह पिछले 2300 सालों में सबसे ठंडे दशक की शुरुआत थी। फसल बर्बाद हो चुके थे। लोग भूखे मर रहे थे। 

ब्रिटेन के बाद इन देशों में हुआ वैक्सीनेशन, जानें नाम

कम से कम हमारे पास अभी टॉयलेट पेपर तो था। आप उस वक्त का सोचिए जब रोम में शौच क्रिया के बाद सफाई (Corona Virus 2020) के लिए स्पंज लगे हुए डंडे का प्रयोग किया जाता था। अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के साथ ही पुलिस की क्रूरता को लेकर काफी चर्चा हुई, लेकिन दुर्भाग्य से यह कोई नई बात नहीं है। साल 1992 के अप्रैल में लॉस एंजिल्स में चार गोरे पुलिसवालों को एक काले मोटर चालक रोडनी किंग की हत्या के जुर्म में बरी करने के बाद दंगा भड़क गया था। यानी जितना खराब आप सोच रहे है उससे भी कई ज्यादा बुरा दौर देश और दुनिया में आ चुका है। 

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here