भारत में कोरोना की नई लहर, सरकार ने भारतीयों के आने पर लगाई रोक

कोरोना वायरस के हालात बेकाबू होते जा रहे है। जिसकी वजह से न्यूजीलैंड में भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी।

0
336
Cornavirus in India
कोरोना वायरस के हालात बेकाबू होते जा रहे है। जिसकी वजह से न्यूजीलैंड में भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी।

New Zealand: भारत में कोरोना वायरस (Cornavirus in India) के हालात बेकाबू होते जा रहे है। जिसकी वजह से न्यूजीलैंड में 11 अप्रैल से भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी हैं। भारत में पिछले तीन दिनों में 1 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। बता दें न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा ने कहा कि हॉट स्पॉट देशों से आए लोगों पर निगाह (Cornavirus in India) बनाए हुए हैं। साथ ही कहा कि ये एक स्थायी व्यवस्था नहीं है, बल्कि एक अस्थायी उपाय है। जिससे कोरोना के मामलों को कम करने में सहायता मिलेगी। 

कोरोना के बाद नई बीमारी का दुनिया पर कहर, 43 लोग संक्रमित, 5 की मौत

न्यूजीलैंड के नागरिकों पर भी रोक

समाचार एजेंजी के अनुसार, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न (Prime Minister Jacinda Ardern) ने भारत से आने वाले सभी यात्रियों के लिए प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसमें न्यूजीलैंड के नागरिक भी शामिल हैं, जो भारत से अपने देश लौट रहे हैं। ये रोक 11 अप्रैल से शुरू होकर 28 अप्रैल तक लागू रहेगा। 

दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश बना भारत, हर दिन आ रहे 40 हजार से ज्यादा नए केस

भारत में सामने आए 1.15 लाख नए मामले

देश में कोरोना वायरस (Cornavirus in India) के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और बुधवार को 1,15,736 नए मामले सामने आए। नए मामलों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु और केरल शामिल हैं। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 55,469 मामले सामने आए है। तो वहीं छत्तीसगढ़ में 9,921 और कर्नाटक में 6150 मामले हैं। देशभर मे एक्टिव मरीजों की संख्या भी 8,43,473 हो गई है। 

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here