चीन ने कबूला गलवान घाटी का सच, भारत के सैनिकों को बंदी बनाया था

चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स के एडिटर ने माना है कि गलवान घाटी में खूनी संघर्ष के दौरान चीन को नुकसान पहुंचा था और उसके भी कुछ जवानों की मौतें हुई थीं।

0
304
Galwan Valley Clash
चीन ने कबूला गलवान घाटी का सच, भारत के सैनिकों को बंदी बनाया था

Beijing: लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के गलवान घाटी (Galwan Valley Clash) हिंसा को लेकर दिए बयान पर चीन का सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स (Global Times) तिलमिला उठा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में चीन से चल रहे विवाद पर जवाब देते हुए कहा था कि लद्दाख में स्थिति गंभीर है लेकिन भारतीय सेना हर परिस्थिति के लिए तैयार है। वहीं गलवान घाटी की झड़प पर उन्होंने कहा कि चीन क कारण भारत के 20 जवान शहीद हुए थे, लेकिन उन जवानों ने चीन को कड़ा जवाब दिया था।

सीमा विवाद पर बोले रक्षा मंत्री, महामारी को लेकर विपक्ष ने साधा निशाना

जिसके बाद चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स के एडिटर हू शिजिन (Hu Xijin) ने माना है कि गलवान घाटी (Galwan Valley Clash)  में खूनी संघर्ष के दौरान चीन को नुकसान पहुंचा था और उसके भी कुछ जवानों की मौतें हुई थीं। बता दें कि ग्लोबल टाइम्स चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का मुखपत्र है। चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स के एडिटर इन चीफ हू शिजिन ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के एक बयान को ट्वीट किया है और इसे फेक बताया है।

एडिटर हू ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘जहां तक मुझे पता है कि गलवान घाटी की झड़प में चीनी सेना में मरने वालों की संख्या भारत के 20 की तुलना में कम थी। उस दिन किसी भी चीनी सैनिक को भारत ने बंदी नहीं बनाया था, बल्कि चीन ने ही भारत के सैनिकों को बंदी बनाया था।’ बता दें कि ग्लोबल टाइम्स चीन के पीपुल्ड डेली का अंग्रेजी अखबार है जो चीन की सत्ताधारी पार्टी चाइनीज़ कम्युनिस्ट पार्टी का ही पब्लिकेशन है।

लद्दाख में हम एक चुनौती के दौर से गुजर रहे हैं- राजनाथ सिंह

बता दें कि इसके पहले चीन ये बात स्वीकार ही नहीं कर रहा था की गलवान घाटी में चीन की सेना को नुकसान पहुंचा था। हालांकि चीन अब भी सार्वजनिक रूप से यह नहीं बता रहा है कि उसके कितने सैनिकों की मौत हुई थी। मालूम हो कि 15 जून को जब चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की थी, तब भारतीय सेना ने उन्हें रोका था। लेकिन चीनी सैनिकों ने धोखे से हथियार से हमला किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here