कोरोना के बाद चीन में फैला बैक्टीरियाई संक्रमण

गांसु (Gansu) की राजधानी लांझोउ में स्वास्थ्य आयोग ने घोषणा कर बताया कि 3,245 लोग इस ब्रुसेल्लोसिस (brucellosis) बीमारी की चपेट में आ गए हैं।

0
265
Brucellosis

Delhi: उत्तर पूर्वी चीन (China) में हजारों लोग बैक्टीरियाई संक्रमण से पीड़ित हो गए हैं। अधिकारियों के अनुसार, पिछले साल एक बायोफर्माक्यूटिकल कंपनी से हुए लीक के कारण यह बीमारी हुई है। गांसु (Gansu) की राजधानी लांझोउ में स्वास्थ्य आयोग ने घोषणा कर बताया कि 3,245 लोग इस ब्रुसेल्लोसिस (brucellosis) बीमारी की चपेट में आ गए हैं।

चीन ने कबूला गलवान घाटी का सच, भारत के सैनिकों को बंदी बनाया था

सीएनएन के अनुसार, यह बीमारी (brucellosis) बैक्टीरिया ब्रुसेला (brucella) के कारण होती है।सामान्यतया यह बैक्टीरिया पशुधन (livestock) में पाया जाता है। पशुधन यानि पशुओं का समूह जो कृषि संबंधित परिवेश में भोजन, रेशे तथा श्रम आदि सामग्रियां प्राप्त करने के लिए पालतू बनाया जाता है। स्वास्थ्य आयोग के अनुसार पिछले साल के जुलाई से अगस्त के बीच झोंगमु लांझोउ बायोलॉजिकल फर्माक्यूटिकल फैक्ट्री में इस बीमारी की शुरुआत हुई। 11 हजार 4 सौ 1 लोगों के इस बैक्टीरिया से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इस बैक्टीरिया के लिए अब तक कुल 21 हजार 8 सौ 47 लोगों की जांच की जा चुकी है। इस शहर की कुल जनसंख्या 29 लाख है। इस बीमारी का नाम माल्टा फीवर (Malta fever or Mediterranean fever) है। इसके लक्षणों में बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, बुखार, कमजोरी आदि शामिल है। इनमें से कुछ समस्याएं गंभीर रूप ले सकती हैं और कभी खत्म नहीं होगी जैसे गठिया या कुछ अंगों में सूजन।

सीमा विवाद पर बोले रक्षा मंत्री, महामारी को लेकर विपक्ष ने साधा निशाना

अमेरिका के डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के अनुसार, इस बीमारी का संक्रमण मनुष्यों के आपसी संपर्क से नहीं होता बल्कि संक्रमित भोजन, पानी या सांस के जरिए फैल सकता है। जानवरों के लिए ब्रुसेला वैक्सीन विकसित करने की प्रक्रिया में एक्सपायर सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया गया है। उल्लेखनीय है कि दुनिया में फैली महामारी कोविड-19 का पहला मामला भी चीन में ही आया था। पिछले साल के अंत में वुहान के सीफूड मार्केट से निकले नॉवेल कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया संक्रमित हो चुकी है। वैश्विक स्तर पर शुक्रवार सुबह तक दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ के पार चला गया। यह जानकारी अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने दी है। यूनिवर्सिटी के डाटा के अनुसार, अब तक दुनिया भर में कोविड-19 के कारण कुल 9 लाख 44 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here