बेरुत धमाके के बाद लेबनान सरकार का बड़ा फैसला

माना जाता है कि भंडार में रखे गए 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में आग लगने से विस्फोट हुआ। बंदरगाह के पास भंडार घर में इसे 2013 से ही संग्रहित कर रखा गया था।

0
272
Beruit Blast
बेरुत धमाके के बाद लेबनान सरकार का बड़ा फैसला

Delhi: पिछले दिनों लेबनान (Lebanon) की राजधानी बेरुत (Beruit Blast) में हुए धमाके और फिर विरोध के बाद लेबनान मंत्रिमंडल ने इस्तीफा दे दिया है। कई मंत्रियों के इस्तीफे और कुछ मंत्रियों के पद से हटने की इच्छा जाहिर करने के बाद बने दबाब में यह फैसला किया गया। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री हमाद हसन ने सोमवार (10 अगस्त) को इस बारे में संवाददाताओं को बताया।

Corona Breaking: रूस में कोरोना की पहली वैक्सीन बनकर तैयार, राष्ट्रपति पुतिन ने किया दावा

आपको बता दें कि धमाके के विरोध में बेरूत में पिछले दो दिन में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प हुई है। हमाद ने कहा, ”समूची सरकार ने इस्तीफा दे दिया है।” उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हसन दियाब ने राष्ट्रपति भवन में सभी मंत्रियों का इस्तीफा सौंप दिया। गौरतलब है कि गत चार अगस्त को हुए विस्फोट (Beruit Blast) में 160 लोगों की मौत हुई थी और लगभग छह हजार लोग घायल हुए थे। इसके अलावा देश का मुख्य बंदरगाह नष्ट हो गया था और राजधानी के बड़े हिस्से को नुकसान हुआ था।

मॉरीशस में इस कारण पीएम ने घोषित किया ‘आपातकाल’

माना जाता है कि भंडार में रखे गए 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में आग लगने से विस्फोट हुआ। बंदरगाह के पास भंडार घर में इसे 2013 से ही संग्रहित कर रखा गया था। विस्फोट से 10 अरब डॉलर से लेकर 15 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका व्यक्त की गई है और धमाके के बाद करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए। प्रधानमंत्री दियाब के सोमवार (10 अगस्त) को राष्ट्र को संबोधित करने की संभावना है। नई सरकार के गठन होने तक मंत्रिमंडल कार्यवाहक भूमिका में अपना काम करेगा।

कोरोना वायरस की वैक्‍सीन को लेकर इजरायल का दावा

इस बीच, देश के एक न्यायाधीश ने सोमवार (10 अगस्त) को सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुखों से पूछताछ शुरू की। न्यायाधीश गस्सान एल खोरी ने सुरक्षा प्रमुख मेजर जनरल टोनी सलीबा से पूछताछ शुरू की। इस संबंध में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है और अन्य जनरलों से भी पूछताछ होनी है। सरकारी अधिकारियों के अनुसार धमाके के सिलसिले में लगभग 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है जिनमें लेबनान के सीमा-शुल्क विभाग का प्रमुख भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि दो पूर्व कैबिनेट मंत्रियों समेत कई लोगों से पूछताछ की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here