अमेरिका Space War की कर रहा तैयारी, जमीनी जंग को पूरी तरह से बदलने का है प्लान !

0
49

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 29 अगस्त को अंतरिक्ष कमान स्पेसकॉम की स्थापना के साथ ही अंतरिक्ष बल की भी नींव रख दी। डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी हितों की रक्षा के लिए एकीकृत इकाई की आवश्यकता बताते हुए कहा कि भविष्य में अंतरिक्ष ही अगला युद्ध क्षेत्र होगा। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष कमान स्पेसकॉम ही अंतरिक्ष बल यानी स्पेस फोर्स की स्थापना की राह तैयार करेगा। अमेरिका की इस अंतरिक्ष कमान के लिए जनरल जॉन डब्ल्यू रेमंड को कमांडर बनाया गया है। इस कमांड को अमेरिका के सशस्त्र बलों की 11वीं एकीकृत लड़ाकू कमान के तौर पर स्थापित किया गया है। इस कमान में आरंभ में केवल 287 अधिकारी और जवान रखे जाएंगे।

शुरुआत में इस कमान की जिम्मेदारियां अमेरिका की रणनीतिक कमान से ली जाएंगी। अमेरिकी सेना के कमांडर इन चीफ ट्रंप ने कहा कि यह बड़ी बात है कि सबसे नई लड़ाकू कमान के तौर पर स्पेसकॉम अंतरिक्ष में अमेरिका के अहम हितों की रक्षा करेगी जो अगला युद्ध क्षेत्र है। स्पेसकॉम यह भी सुनिश्चित करेगी कि अंतरिक्ष में अमेरिकी प्रभुत्व पर कोई खतरा न रहे। डोनाल्ड ट्रंप ने रूस और चीन को उन देशों के रूप में रखा है जो अंतरिक्ष में उसके लिए खतरा बन सकते हैं। इसलिए जो लोग अंतरिक्ष के सर्वोच्च क्षेत्र में अमेरिका को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, उनके लिए खेल पूरी तरह से बदल जाएगा।

ट्रंप प्रशासन का यह भी कहना है कि कई अन्य देश पृथ्वी की कक्षाओं को नित-नई तकनीकों से सुसज्जित कर रहे हैं जो युद्धक क्षेत्रों के अभियानों और हमारी जीवन शैली के लिए काम कर रहे महत्वपूर्ण उपग्रहों को निशाना बना सकती हैं। इस स्थिति से निपटने के लिए या यूं कहिए कि अमेरिका के विरुद्ध प्रक्षेपित की गई किसी भी मिसाइल को पहचानने अथवा उसे नष्ट करने के लिए अंतरिक्ष में उसकी ताकत व परिचालन की स्वतंत्रता अत्यंत जरूरी है। इसलिए अमेरिका जमीन, हवा, समुद्र एवं अंतरिक्ष को समर क्षेत्र के रूप में चिन्हित कर चुका है। एकीकृत लड़ाकू कमान इन पर निगरानी रखेगी।

अमेरिका की इस स्पेस फोर्स का गठन वहां की संसद की स्वीकृति पर टिका है। उसकी स्वीकृति मिलने के बाद स्पेस फोर्स के नए सैनिकों की भर्ती की जाएगी। फिर उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। ये सैनिक रूस व चीन से अमेरिकी उपग्रहों की रक्षा की जिम्मेदारी संभालेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here