जब छात्र 9 साल में पास नहीं कर सका B.TECH, तब कोर्ट ने कहा- देश पर रहम करो

0
96
कॉन्सेप्ट इमेज।

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने एक इंजीनियरिंग के छात्र की दया याचिका को खारिज करते हुए उसे कड़ी फटकार लगाई है. दरअसल, छात्र पिछले 9 साल से नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कुरुक्षेत्र में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है. लेकिन अभी तक वह अपनी डिग्री हासिल नहीं कर सका है.

बता दें कि 2009 में छात्र ने एनआईटी कुरूक्षेत्र में बीटेक में एडमीशन लिया. डिग्री के दौरान छात्र की 17 बैक (री-एग्जाम) लगी. इसके बाद कॉलेज प्रसाशन ने छात्र को डिग्री पूरा करने के लिए अतरिक्त 4 साल की समय दिया. लेकिन इतना समय मिलने के बावजूद भी छात्र अपने 17 बैक पेपर पास नहीं कर सका. जिसके बाद कॉलेज ने उस परिक्षा देने से रोक दिया.

वहीं जब छात्र ने कोर्ट में अपनी याचिक दायर करवाई कि उसे बैक पेपर देने की अनुमति दे दी जाए, तब कार्ट ने छात्र की याचिका को खारीज कर उसे फटकार लगा दी.कोर्ट ने कहा कि हमसे किसी तरह की कोई दया की अपली मत करो, बस देश पर दया कर लो और इंजीनियर मत बनो.

साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा कि उन लोगों के लिए बिलकुल भी दया नहीं, जो देश के संसाधनों का गलत इस्तेमाल करते हैं. कोर्ट का कहना है कि क्या तुम्हें इस बात का थोड़ा सा भी अंदाजा है कि जिस 1 सीट पर तुम 4 साल तक बेकार किया.

इस पर कितना पैसा सरकार का खर्च हुआ होगा. जो तुम्हारे द्वारा दी गई फीस से बहुत ज्यादा है. कोर्ट ने छात्र से ये भी सवाल पूछा कि ‘अगर आपने 9 साल में इंजीनियरिंग पास नहीं की तो आप कैसे एक अटेम्ट में 17 कम्पार्टमेंट परीक्षा पास कर सकते हैं’.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here