Budget Session 2022: सदन की कार्रवाई के तीसरे दिन डिप्टी सीएम और पूर्व सीएम के बीच देखने को मिली तीखी नोकझोंक

0
55

Akhilesh Yadav Vs Keshav Prasad Maurya: उत्तर प्रदेश विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly) के पहले बजट सत्र का आज तीसरा दिन है। तीसरे दिन सदन की कार्रवाई के दौरान सीएम और पूर्व सीएम के अलावा डिप्टी सीएम में मिलकर नोकझोंक देखने को मिली। सदन में चल रही तीसरे दिन की कार्रवाई के दौरान स्पीकर महोदय के सामने सीएम योगी ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। बाद इसके डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या भी पीछे नहीं हटे। केशव प्रसाद मौर्या (Keshav Prasad Maurya) और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बीच जमकर तीखी नोकझोंक देखने को मिली।

बीच में दखल नहीं देना चाहिए

सीएम योगी ने बजट सत्र के दूसरे दिन को लेकर कही गई को लेकर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को बोलने का अधिकार है, लेकिन तू तू मैं मैं का और किसी भी असभ्य भाषा का प्रयोग नहीं करना चाहिए और सदन की मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा की जब सीएम या डिप्टी सीएम बोल रहे हो तो बीच में दखल नहीं देना चाहिए और न ही धमकी भरे शब्द प्रयोग करना चाहिए।

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने क्या कहा जानिए

वहीं पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी इस विषय पर अपना विचार रखते हुए कहा कि अनपार्लियामेंट्री शब्द बीच में आ जाएं तो उन्हें निकाल देना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी के बारे में पर्सनल नहीं कहना चाहिए। उन्होंने सैफई के मुद्दे को लेकर भी कहा कि जनता का विकास जमीन बेचकर नहीं किया जा सकता।

जनता ने 2014, 2017, 2019 और 2022 में नकारा

वहीं डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता ने उन्हें 2017 और 2022 में नकारा है। क्योंकि समाजवादी पार्टी ने अपना कोई भी कार्य पूरा नहीं किया था। समाजवादी पार्टी ने अपने सारे काम अधूरे ही छोड़ दिए थे। उन्होंने आगे भी निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष को गरीबों की चिंता नहीं है और हमारी पार्टी बिना भेदभाव के कार्य कर रही है। हमें गरीबों की चिंता है। उन्होंने कहा की समाजवादी पार्टी ने हर काम में बैरियर लगा रखे थे। पूर्व सीएम अखिलेश यादव और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की यह नोकझोंक काफी लम्बे समय तक चली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here