Kanpur Riot: बीजेपी प्रवक्‍ता के बयान से शुरू हुआ विवाद ? कानपुर में बने दंगे जैसे हालात !

0
276
kanpur riot

Kanpur Riot: कानपुर (Kanpur) में बाजार बंद कराने को लेकर जुमे की नमाज़ के दो पक्षों में भिंडत हो गई। दोनों पक्षों में जमकर आक्रोश देखने को मिला है। कानपुर पुलिस ने दावा किया है कि स्तिथि पर काबू पा लिया गया है। इस घटना में पुलिस पर भी पथराव किया गया है। इस घटना की सूचना मिलने पर जब यतीमखाना चौराहा इलाके की गलियों में दंगाइयों की पहचान करने गई तो वहां पुलिस पर भी पथराव कर दिया। फिर पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया और जवाब में पत्थर फेंकने लगी। इस घटना के बाद से ही वहां वरिष्‍ठ अधिकारी तैनात हैं।

कानपुर देहात में राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री

जहाँ एक तरफ कानपुर (Kanpur) में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों मौजूद हैं तो वहीं दूसरी तरफ इस तरह से दंगा करके माहौल बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। आपको बता दें आज कानपुर (Kanpur) देहात में पीएम और रष्ट्रपति दोनों मौजूद हैं। राष्ट्रपति अपने पैतृक में गांव में गए हुए हैं साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजदू रहे।

दोनों पक्षों में दंगा इतना ज्यादा बढ़ गया कि पथराव के साथ फायरिंग भी होने लगी। जब पुलिस शुरआती दंगाइयों (Kanpur Riot) को ढूंढने के गई तो पुलिस पर भी पथराव कर दिया। फिर पुलिस ने लाठी चार्ज करके दंगाइयों को खदेड़ दिया। हालात काबू में करने के बाद चमनगंज इलाके को सील कर दिया गया है। भारी संख्या में पुलिस बल और पीएससी तैनात कर दी गई है।

बीजेपी प्रवक्‍ता के बयान के बाद शुरू हुआ विवाद ?

इस पूरे विवाद के पीछे बीजेपी प्रवक्‍ता नुपुर शर्मा का तथाकथित बयान बताया जा रहा है जो उन्होंने एक टीवी डिबेट के दौरान दिया था। उस बयान के बाद से ही विरोध शुरू हो गया था। इसके विरोध में शुक्रवार को मुस्लिम संगठन ने बाजार बंद का एलान कर दिया था। शुक्रवार की नमाज़ के बाद से काफी लोग इकट्ठा होकर परेड करने निकले थे। परेड के दौरान उन्होंने कुछ दुकाने भी बंद करवाई। जब भीड़ चंद्रेश्वर हाते के पास पहुंची, तो दूसरे पक्ष ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। देखते ही देखते दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here