Zika Virus का कहर जारी: कानपुर के बाद अब फतेहपुर में दी दस्तक, इलाके में मचा हड़कंप

0
325
zika virus in kanpur
Zika Virus का कहर जारी : कानपूर के बाद अब फतेहपुर में दी दस्तक, इलाके में मचा हसकंप

Zika Virus In Fatehpur: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में जीका वायरस (Zika Virus) का कोहराम मचा हुआ है। इससे पहले जीका वायरस का पहला केस कानपुर में मिला था और अब जीका वायरस ने यूपी के फतेहपुर में भी दस्तक दे दी है। जिसको सुनकर वहां के लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। बता दें की तेलियानी ब्लॉक के त्रिलोकीपुर गांव में जीका वायरस का पहला केस मिला है। रिपोर्ट के मुताबिक ज़ीका वायरस का केस मिलने पर स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट मोड पर आ गया है।

21 लोगों के लिए गए कोरोना सैंपल

बता दें की जीका वायरस मिलने पर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलेर्ट हो गया है और डीएम-सीएमओ ने मिलकर क्षेत्र का दौरा किया है। -डीएम अपूर्वा दुबे और सीएमओ राजेन्द्र सिंह ने साथ मिलकर त्रिलोकीपुर गांव का दौरा किया. टीम ने जीका वायरस से पीड़ित मरीज के परिजनों सहित कुल 21 लोगो के सैंपल लिए हैं. जीका से पीड़ित मरीज की हालत सामान्य पाए जाने पर उसे होम आइसोलेट करने का आदेश दिया है।

राम प्रताप में हुई जीका वायरस (Zika Virus) की पुष्टि

बता दें की फतेहपुर में स्तिथ 35 वर्षीय राम प्रताप में जीका वायरस पाया गया है। दरअसल राम प्रताप शहर से सटे तेलियानी ब्लॉक के त्रिलोकीपुर गांव के रहने वाले है। वो काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। सोमवार को जिला अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया जहाँ उन्हें ओपीडी में रख गया था। उनका सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेज दिया गया हैं। रिपोर्ट्स आने के बाद राम प्रताप में जीका वायरस की पुष्टि की गई हैं।

सीएमओ (CMO) राजेंद्र सिंह ने बताया, ‘रिपोर्ट आने के तुरंत बाद ही मैंने डीएम के साथ त्रिलोकीपुर गांव का विजिट किया. प्रशासन की तरफ से चार नोडल अधिकारी बनाए गए है. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की तरफ से भी सर्वे, टेस्टिंग, मेडिकल कैंप व मलेरिया की चार टीमें बनाई हैं. ‘

मेडिकल कैम्प का हुआ आयोजन

जीका वायरस की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को सर्विलांस टीम ने घर घर जाकर सर्वे भी किया हैं। कुल मिलकर 82 घरों का सर्वे किया गया हैं और बाकी बचे 290 घर का सर्वे शनिवार को किया जाएगा। बता दें की सैंपलिंग की टीम ने मरीज के परिजनों सहित कुल 21 लोगो का सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है.

इसी दौरान बीमार व्यक्तियों को देख कर गांव-गांव जाकर कैम्प लगाए गए हैं और सभी को समय से दवा दी जा रही हैं। वहीं एडीओ पंचायत अशोक तिवारी 20 सदस्यीय सफाई दल के साथ गांव की साफ-सफाई व फॉगिंग करवा रहे हैं. इसके साथ ही तालाब, पोखरे व नाली में एंटी लार्वा का छिड़काव कराया जा रहा है.

Also Read: कानपुर में जीका वायरस का खौफ जारी, क्या है इसके लक्षण और कैसे बचें ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here