Uddhav Thackeray Facebook Live: राजनीतिक संकट के बीच मुख्यमंत्री का संबोधन, बोले- ‘पद से इस्तीफा देने को तैयार हूं, लेकिन..’

0
39
Uddhav Thackeray Facebook Live
Uddhav Thackeray Facebook Live

Uddhav Thackeray Facebook Live: महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने फेसबुक लाइव करके महाराष्ट्र की जनता को संबोधित किया। लाइव पर उन्होंने बताया कि उनका चेहरा कोरोना के कारण गिरा हुआ है।

फेसबुक लाइव के दौरान उन्होंने कहा कि “मैं लंबे असरे बाद आप सबके सामने आया हूं इसलिए बोलने के काफी कुछ है।” Uddhav Thackeray ने कहा कि “मेरे पास प्रशासन का कोई भई अनुभव नहीं था, कोरोना की चुनौती हमारी सामने आई। उस वक्त कोरोना प्रवंधन को लेकर जो सर्वे हुए, उसमें टॉप 5 मुख्यमंत्रियों में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का नाम शामिल था।”

सेना और हिंदुत्व हमेशा बरकरार है- उद्धव

शिवसेना और हिंदुत्व के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि “सेना और हिंदुत्व हमेशा बरकरार हैं। शिवसेना को हिंदुत्व से अलग नहीं किया जा सकता है और हिंदुत्व को शिवसेना से अलग नहीं किया जा सकता है। शिवसेना कौन चला रहा है? मुख्यमंत्री मिलते क्यों नहीं? मैं खुद नहीं मिल रहा था, क्योंकि मेरी सर्जरी हई थी। मैं जब नहीं मिल रहा था, तब भी काम तो हो ही रहे थे।”

‘मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने को तैयार हूं, लेकिन..’

राजनीतिक हलचल और उठ रहे सवालों को लेकर उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने फेसबुक लाइव (Uddhav Thackeray Facebook Live) में कहा कि “मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने को तैयार हूं, लेकिन आप मेरे सामने आके बोलिये सब कुछ। एकनाथ को सूरत जाकर बात करने की क्या ज़रूरत थी। कुछ लोग ये कह रहे हैं कि ये बाल ठाकरे की शिवसेना नहीं है। बाल ठाकरे के गुजर जाने के बाद 2014 में हम अकेले लड़े थे। मैं पिछले ढाई साल से सीएम हूं और जितने भी नेता चुने गए हैं, वो सब बाल ठाकरे की शिवसेना पार्टी से हैं।”

उन्होंने कहा कि कुछ विधायक फोन करके कह रहे हैं कि वो वापस लौटना चाहते हैं। और कुछ विधायकों को अलग-अलग जगहों पर ले जाया गया है। मैं सीएम पद छोड़ने के लिए तैयार हूं, लेकिन मेरे बाद कोई शिवसैनिक ही सीएम बनेगा तो मुझे खुशी होगी। एक बार आए और वहां से फोन कीजिए कि मेरा फेसबुक देखा है। पद आते-जाते रहेंगे।

‘मेरे अपने मुझे सीएम देखना नहीं चाहते’

उन्होंने कहा, “मैं दुखी हूं और आश्चर्यचकित हूं। आज सुबह कमलनाथ ने मुझे फोन किया, कल शरद पवार ने मुझे फोन किया और कहा कि मैं आपके साथ हूं, मुझे आप पर भरोसा है। लेकिन अगर मेरे अपने लोग मुझे नहीं चाहते हैं तो मैं क्या कह सकता हूं? सूरत या कहीं और जाने के बजाय, वो क्यों नहीं आते और मुझे मेरे चेहरे पर बताते हैं कि हम आपको अपने सीएम के रूप में नहीं चाहते हैं। अगर वे ये कहते हैं कि हम उद्धव ठाकरे का इस्तीफा चाहते हैं, तो मैं दूंगा।”

फिलहाल मैं इस्तीफा देने को तैयार हूं। इस तरह के पद आएंगे और जाएंगे। कई लोगों ने मुझसे कहा कि मैं उनसे परिवार के सदस्य के रूप में बात कर रहा हूं और यही मेरी असली उपलब्धि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here