Maharashtra Political Crisis: क्या Uddhav Thackeray पर भारी पड़ा ‘नारी श्राप’, क्या सच हो गई कंगना और नवनीत राणा की भविष्यवाणी?

0
30
Maharastra Political Crisis

Kangana Ranaut Navneet Rana Statement Viral: महाराष्ट्र में उद्धव की सत्ता डोली तो सीएम आवास खाली कर मातोश्री लौट गए, इसके बाद इंतजार है की उद्धव ठाकरे सीएम पद से इस्तीफ़ा कब देंगे, लेकिन ये नौबत आई कैसे की ढाई साल में ही ठाकरे इतनि उच्चाई से नीचे गिर पड़े? इसके पीछे के कारण जानेंगे तो ऐसी कई बातें सामने आएंगी जिसके वजह से ठाकरे की सत्ता में दरारें पड़ना बहुत पहले से शुरू हो गई थी। चाहे वो पालघर में साधुओं की हत्या का मामला रहा हो चाहे सुशांत सिंह राजपूत मामला रहा हो या फिर ड्रग केस के मामले रहे हो या फिर अरनब गौस्वामी का मामला रहा हो ।

इन सब मुद्दों ने ठाकरे की सत्ता के लिए चुनौती पेश की और आज नतीजा सबके सामने है, क्योंकि एकनाथ शिंदे दावा कर रहे है की वो बाला साहब ठाकरे के हिन्दुत्व को आगे बढ़ाना चाहते हैं, जबकि शिव सेना अपने मूल्य स्वभाव से भटक चुकी है। हालांकि इन सब मुद्दों से उद्धव ठाकरे की सत्ता पर अगर कोई सबसे ज्यादा भारी पड़ा तो वो दो महिलाएं है। इन दोनो ने ठाकरे सरकार की नाक में ऐसा दम किया की आज सब सत्ता पर सवाल उठ रहे है तो सबसे ज्यादा चर्चा इन ही दो महिलाओं की है, एक नाम है नवनीत राणा तो दूसरी है कंगना रनौत । इन दो महिलाओं का ही श्राप को ही आज ठाकरे भुगत रहे हैं अब आप सोच रहे होंगे वो कैसे तो चलिए आपको बताते हैं।

नवनीत राणा ने उद्धव ठाकरे को दी थी चुनौती

सबसे पहले बात करते है नवनीत राणा कि अभी कुछ दिनों पहले की ही बात है जब नवनीत राणा ठाकरे सरकार के लिए चुनौती बन कर उभरी। अमरावती से निर्दलय सांसद नवनीत राणा ने चुनौती दी की वो मातोश्री में हनुमान चालीसा पढ़ेंगी जिसके बाद राजनीति गरमाई तो ठाकरे सरकार ने नवनीत के खिलाफ ऐक्शन लेना शुरु कर दिया , उन्हे जेल भेज दिया और साथ ही उनके पति को सालंखों के पीछे धकेल दिया गया। लेकिन नवनीत राणा डटी रही और उद्धव सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले रखा और कहती रही की वो आखिरी सांस तक लड़ती रहेंगी इसके बाद अभी हाल ही में उन्होंने हनुमान चालीसा पढ़ते हुए एक तस्वीर शेयर की ओर कहा की उद्धव सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई है।

कंगना का बयान भी हो रहा वायरल

कंगना रनौत ने एक साल पहले ही कह दिया था “आज मेरा घर टूटा है कल तुम्हारा घमंड टूटेगा,” ये बातें महज यूं ही नहीं कही थी बल्कि ये उनके दिल से निकली थी क्योंकि महाराष्ट्र की सरकार सुशांत सिंह राजपूत मामले में कंगना के खुलकर बोलने से काफी नाराज़ थी,और इसी की सज़ा उन्हे दी गई थी, और पाली हिल्स में उनके ऑफिस पर बुलडोजर चढ़ा दिया गया था। जिसके बाद कंगना ने बयान देते हुए ठाकरे सरकार का जमकर विरोध किया था।

फिलहाल इन दो नारियों की खूब चर्चा हो रही है, और उद्धव ठाकरे की सत्ता के लिए जिस तरीके से इन्होंने पहले ही बोल दिया था आज कुछ वैसा ही होता दिखाई दे रहा है। बता दें कि महाराष्ट्र में महा विकास आघारी सरकार के खिलाफ एकनाथ शिंदे बगावत कर चुके है , सीएम आवास छोड़ कर ठाकरे मात्रोश्री लौट गए हैं बस इस्तीफे का इंतज़ार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here