कांग्रेस अपने विधायकों को भेजेगी सुरक्षित जगह ! खरीद-फरोख्त के खतरे की है आशंका…

महाराष्ट्र में आज सुबह यानी कि शनिवार को हुए राजनीतिक उलटफेर से कांग्रेस चौकन्ना है। पार्टी ने अब खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए विधायकों को सुरक्षित जगह रखने की रणनीति बनाई है।

0
900
महाराष्ट्र की राजनीति पर कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

महाराष्ट्र में आज सुबह यानी कि शनिवार को हुए राजनीतिक उलटफेर से कांग्रेस चौकन्ना है। पार्टी ने अब खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए अपने विधायकों को सुरक्षित जगह रखने की रणनीति बनाई है। दरअसल, शुक्रवार शाम तक शिवसेना को समर्थन देने के लिए NCP और कांग्रेस लगभग तैयार हो गई थीं।  लेकिन, शुक्रवार देर रात बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और एनसीपी नेता अजित पवार के शपथ ग्रहण से विपक्ष के सरकार गठने का कार्यक्रम धरा फेल हो गया।

गौरतलब है कि एनसीपी नेता अजित पवार ने बीजेपी को समर्थन देकर खुद उपमुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बना दिया है। हालांकि, एनसीपी के अध्यक्ष सरद पवार ने इसे पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बताया है। बता दें कि बीजेपी को अब विश्वास प्रस्ताव पर बहुमत साबित करना होगा। ऐसे में अब महाराष्ट्र में विधायकों के दल-बदल की संभावना काफी बढ़ गई। लिहाजा एनसीपी और कांग्रेस अपने-अपने विधायकों को सुरक्षित रखने की रणनीति बना रही है।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस पार्टी अपने विधायकों को कुछ दिनों के लिए मध्य प्रदेश भेज सकती है, ताकि बीजेपी और एनसीपी के बागी अजीत पवार सरकार गठन के दौरान खरीद-फरोख्त की कोशिश न कर सके। शिवसेना और एनसापी अध्यक्ष सरद पवार ने प्रस कॉन्फ्रेंस कर अभी भी सरकार बनाने का दावा किया है।

संजय राउत ने कहा कि हम तीनों दल कांग्रेस, शिवसेना, एनसीपी साथ हैं। उन्होंने कहा, बीजेपी विश्वास प्रस्ताव में बहुमत साबित करके दिखाए। विधायकों को मध्य प्रदेश भेजे जाने के संबंध में महाराष्ट्र कांग्रेस हाईकमान ने सीएम कमलनाथ से चर्चा की है। जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र में शक्ति परीक्षण होने तक विधायक भोपाल में रहेंगे।

विधायकों को सुरक्षित रखने के लिए पार्टी ने छत्तीसगढ़ और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से भी बात की है। महाराष्ट्र के विधायक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ या राजस्थान में से सबसे सुरक्षित किस जगह रहेंगे इस पर अबी तक फैसला नहीं हुआ है। इससे पहले महाराष्‍ट्र में तेजी से बदले घटनाक्रम के बीच एनसीपी और शिवसेना ने संयुक्‍त प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर बीजेपी पर निशाना साधा।

वहीं कांग्रेस ने भी BJP पर हमला बोला। कांग्रेस ने ताजा घटनाक्रम को लेकर कहा कि पार्टी इस मुद्दे पर राजनीतिक और कानूनी लड़ाई लड़ेगी। अहमद पटेल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि महाराष्‍ट्र में बिना बैंड बाजा और बारात के मुख्‍यमंत्री व डिप्‍टी सीएम की शपथ ली गई है।

कांग्रेस नेता ने कहा, बिना किसी जांच के शपथ दिला दी गई। उन्होंने कहा नेता चोरी- छिपे जाते हैं और शपथ लेते हैं। सब कुछ छिपाकर किया गया, ये कहीं ना कहीं कुछ गत होने का संकेत है। शिवसेना नेता संजय राउत ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि उनकी पार्टी ही सरकार बनाएगी। संजय राउत ने शनिवार को कहा अजित पवार अकेले पड़ जाएंगे, उन्होंने जिन विधायकों के समर्थन की बात कही है वे हमारे साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here