‘शिल्‍पोत्‍सव’ में शामिल हुए केन्‍द्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री, शिल्पियों को किया प्रोत्‍साहित

केन्‍द्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने आज आईएनए स्थित 'दिल्‍ली हाट में आयोजित शिल्‍पोत्‍सव 2019 का दौरा किया। इस दौरान मंत्री ने शिल्पियों को प्रोत्‍साहित किया। बता दें कि शिल्‍पोत्‍सव 2019 देश भर के कमजोर वर्गों के शिल्पियों का वार्षिक मेला है।

0
69
केन्‍द्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री -थावरचंद गहलोत

केन्‍द्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने आज आईएनए स्थित दिल्‍ली हाट में आयोजित ‘शिल्‍पोत्‍सव 2019’ में शामिल हुए। इस दौरान मंत्री ने शिल्पियों को प्रोत्‍साहित किया। बता दें कि शिल्‍पोत्‍सव 2019 देश भर के कमजोर वर्गों के शिल्पियों का वार्षिक मेला है।

जानकारी के मुताबिक, शिल्‍पोत्‍सव की शुरूआत 01 नवम्‍बर 2019 को हुई थी। ये मेला 15 नवम्‍बर, 2019 तक जारी रहेगा।

सहकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा दस्‍तकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा, सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्रालय देश भर के सुविधाहीन और अधिकारविहीन कारीगरों को सशक्‍त बनाने की दिशा में कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा इसीलिए हर वर्ष शिल्‍पोत्‍सव का आयोजन किया जाता है।

शिल्‍पियों के उत्‍पादों का प्रदर्शन 

शिल्‍पोत्‍सव में सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्रालय के शीर्ष निगमों यानि राष्‍ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्‍त और विकास निगम (एनबीसीएफडीसी), राष्‍ट्रीय अनुसूचित जाति वित्‍त और विकास निगम (एनएसएफडीसी), राष्‍ट्रीय दिव्‍यांग वित्‍त और विकास निगम (एनएचएफडीसी), राष्‍ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्‍त और विकास निगम (एनएसकेएफडीसी) और नेशनल ट्रस्‍ट से सहायता प्राप्‍त शिल्‍पी अपने उत्‍पादों का प्रदर्शन कर रहे हैं।

मेले में उपलब्ध उत्‍पाद-

गौरतलब है कि मेले में शामिल उत्‍पादों में सिल्‍क साडियां, दरियां, सिले-सिलाए वस्‍त्र, मिट्टी के उत्‍पाद, जूट उत्‍पाद, ड्रैस मैटिरियल, कश्‍मीरी शॉल/स्‍टोल, चमड़ा, बेंत और बांस के उत्‍पाद, हाथ की कढ़ाई, मोती उत्‍पाद, मोती, अनुकृति आभूषण, लाख के उत्‍पाद, सजावटी मोमबत्तियां, लकड़ी की कलाकृतियां, ब्‍लॉक प्रिंटिंग, लकड़ी के खिलौने, बंधेज, लकड़ी, संगमरमर की कलाकृतियां और हथकरघा हैं।

शिल्‍पोत्‍सव 2019 में हर रोज कई मशहूर कलाकारों द्वारा मनोरंजन के लिए हर शाम 6 बजे से 8 बजे तक सांस्‍कृतिक कार्यक्रम प्रस्‍तुत किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here