Chess Olympiad: ‘शतरंज अपने जन्मस्थान से निकलकर पूरी दुनिया में छाप छोड़ रहा’- PM

0
31

Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज इंदिरा गांधी स्टेडिम में 44 वें शतरंज ओलंपियाड (Chess Olympiad) के मशाल रिले का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा, “आज शतरंज ओलंपियाड खेल के लिए पहली टॉर्च रिले भारत से शुरू हो रही है। इस साल पहली बार भारत इस खेल को होस्ट भी करने जा रहा है।”

चेस ओलंपियाड मशाल देश के 75 शहरों में जाएगी- पीएम

शतरंज ओलंपियाड (Chess Olympiad) का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री Narendra Modi ने संबोधित भी किया। उन्होंने कहा, “हमें गर्व है कि एक खेल अपने जन्मस्थान से निकलकर पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ रहा है। भारत से सदियों पहले चतुरंग के रूप में इस स्पोर्ट्स की मशाल पूरी दुनिया में गई थी। आज शतरंज की पहली ओलंपियाड मशाल भी भारत से निकल रही है। आज जब भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष का पर्व, अमृत महोत्सव मना रहा है, तो ये चेस ओलंपियाड मशाल भी देश के 75 शहरों में जाएगी।”

पीएम मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि FIDE ने ये भी तय किया है कि प्रत्येक शतरंज ओलंपियाड खेल के लिए टॉर्च रिले भारत से ही शुरू हुआ करेगी।

शतरंज के मोहरे की अपनी ताकत है- पीएम

संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी बोले कि शतरंज के हर मोहरे की अपनी यूनिक ताकत और क्षमता होती है। उन्होंने कहा, “चेसबोर्ड की यही खासियत हमें जीवन का बड़ा संदेश देती है। सही सपोर्ट और सही माहौल दिया जाए तो कमजोर से कमजोर के लिए भी कोई लक्ष्य असंभव नहीं होता।”

देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं- पीएम

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री Narendra Modi ने कहा कि, “भारत में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। युवाओं में साहस, समर्पण और सामर्थ्य की कमी नहीं है। आज ‘खेलो इंडिया’ अभियान के तहत देश इन प्रतिभाओं को खुद तलाश भी रहा है और तराश भी रहा है। हमें गर्व है कि एक Sports, अपने जन्मस्थान से निकलकर पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ रहा है, अनेक देशों के लिए एक passion बन गया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here