नीतीश कुमार की आलोचना से BJP प्रवक्ता और निखिल मंडल के बीच ट्विटर पर घमासान

0
31
Nitish Kumar
Nitish Kumar

सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। सेना भर्ती के इच्छुक अभ्यर्थियों की ओर से राज्य के कई जिलों में हिंसक विरोध-प्रदर्शन किया गया है। हिंसक प्रदर्शन में बीजेपी नेताओं के आवास को भी निशाना बनाया गया है। इस प्रदर्शन को लेकर को लेकर बिहार एनडीए (Bihar NDA) के दो दल बीजेपी (BJP) और जेडीयू (JDU) आमने सामने आ गए हैं। बिहार बीजेपी (Bihar BJP) ने हिंसक प्रदर्शन को प्रशासन की विफलता करार दिया और इशारों में सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर निशाना साधा। जेडीयू (JDU) ने भी पलटवार करते हुए कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में प्रदर्शनकारी अभ्यर्थियों पर गोलियां क्यों नहीं चलवाते हैं।

बीजेपी (BJP) के प्रवक्ता निखिल आनंद ने ट्वीट कर इशारों में जेडीयू से गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि-‘हमें नीतिगत चर्चा और विकास के आकलन में आलोचनात्मक दृष्टिकोण का स्वागत करना चाहिए। बिहार के भविष्य के लिए बहुत कुछ किया है और बहुत कुछ करना बाकी है। हम ऐसे लोग हैं जो आलोचनाओं से सीखते हैं और आगे बढ़ते हैं। बिहार को अभी लंबा सफर तय करना है।’

जेडीयू नेता निखिल मंडल ने दिया जवाब

बीजेपी (BJP) प्रवक्ता के ट्वीट का जेडीयू नेता निखिल मंडल ने जवाब देते हुए कहा है कि हर कोई जानता है और स्वीकार करता है कि कैसे नीतीश कुमार बिहार को प्रगति की ओर ले गए हैं। अब, उन्हें निशाना बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली चीज़ें और कुछ नहीं बल्कि एक राज्य और उसके नेताओं का उपहास करने का एक दयनीय प्रयास है।

दरअसल एक वेबसाइट में एक रिपोर्ट छापी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में बिहार (Bihar) के लोगों के लिए एक विकसित राज्य का सपना देखा था। लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) न केवल बिहार के लिए विकास की कहानी लिखने में असफल रहे, बल्कि शासन के आकलन में भी विफल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here