कोरोनिल विवाद पर बाबा रामदेव की सफाई

बाबा रामदेव ने कोरोनिल दवा पर हुए विवाद पर कहा कि "सब कह रहे कि पतंजलि ने यूटर्न ले लिया है, हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि रोगमुक्त और नशामुक्त भारत बनाना गुनाह हो"

0
503
Patanjali Coronil

Haridwar: योग गुरु बाबा रामदेव ने पतंजलि (Patanjali) की कोरोनिल दवा (Coronil) पर हुए विवाद को लेकर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सफाई दी। उन्होंने अपना गुस्सा निकाला और कहा “सब कह रहे कि पतंजलि ने यूटर्न ले लिया है, हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई. हमें जेल में डाल दो, हमें देशद्रोही कहो, आतंकवादी कहो हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि रोगमुक्त और नशामुक्त भारत बनाना गुनाह हो”

पिछले 24 घंटे में कोरोना से 507 लोगों की मौत

बाबा ने कहा कि भारत में आयुर्वेद को ड्रग के रूप में मान्यता है, जबकि दूसरे देशों में तो इन्हें फूड सप्लीमेंट की तौर पर अपनाया गया है और कहा कि कोरोना पर क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल का काम किया गया है इसके अलावा 10 से ज्यादा बीमारियों पर हम ट्रायल कर रहे हैं और उसमें तीन लेवल पार कर चुके हैं. इसमें हापरटेंशन, अस्थमा, हार्ट, चिकुनगुनिया जैसे रोग शामिल हैं, जिन पर हम ट्रायल कर रहे हैं.

आज से देश में अनलॉक 2.0 लागू, बदले कई नियम

”आयुष मंत्रालय ने कहा है कि पतंजलि ने कोविड-19 के मैनेजमेंट के लिए पर्याप्त काम किया है यानी अच्छी पहल की है. पतंजलि ने एक सही दिशा में काम करना शुरू किया है.” बाबा ने बताया कि मंत्रालय ने ये भी कहा कि आप क्योर शब्द इस्तेमाल मत कीजिए तो हमने कहा कि ठीक है इसे कोविड क्योर नहीं कहकर कोविड मैनेजमेंट कह लेंगे।

बता दे कि 23 जून को कोरोनिल (Coronil) लॉन्च की गई थी. दावा किया गया था कि इससे 7 दिन के अंदर 100 फीसदी रिकवरी हो जाएगी. कोरोना की दवा के रूप में लाई गई कोरोनिल पर तुरंत ही विवाद हो गया.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here