हरिद्वार आए कांवड़ियों पर होंगे मुकदमे दर्ज, जानें कांवड़ यात्रा का इतिहास और महत्व

कोरोना को देखते हुए कांवड़ यात्रा को रद्द कर दिया गया है। प्रशासन ने कांवड़ियों को रोकने के लिए चेतावनी जारी की है।

0
383
Kanwar Yatra 2021
कोरोना को देखते हुए कांवड़ यात्रा को रद्द कर दिया गया है। प्रशासन ने कांवड़ियों को रोकने के लिए चेतावनी जारी की है।

Uttarakhand: कोरोना को देखते हुए उत्तराखंड में कांवड़ यात्रा (Kanwar Yatra 2021) को रद्द कर दिया गया है। साथ ही प्रशासन ने कांवड़ियों को रोकने के लिए चेतावनी जारी कर दी है। प्रतिबंध के बावजूद भी अगर कोई कांवड़ लेने आता है तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

आज वाराणसी दौरे पर रहेंगे पीएम मोदी, कई परियोजनाओं पर होगा मंथन…

कांवड़ यात्रा का इतिहास और महत्व

आपको बता दें पहला कांवडियां (Kanwar Yatra 2021) रावण था। वेद कहते हैं कि कांवड़ की परंपरा समुद्र मंथन के समय ही पड़ गई। शिव के अंदर जो नकारात्मक उर्जा ने जगह बनाई, उसको दूर करने का काम रावण ने किया। रावण ने तप करने के बाद गंगा के जल से पुरा महादेव मंदिर में भगवान शिव का अभिषेक किया, जिससे शिव इस उर्जा से मुक्त हो गए। अंग्रेजों ने 19वीं सदी की शुरुआत से भारत में कांवड़ यात्रा का जिक्र अपनी किताबों और लेखों में किया। 

उत्तराखंड में कांवड़ यात्रा पर लगी रोक, यूपी में जारी रहेगी यात्रा…जानें सीएम योगी ने क्या कहा

कितने कांवड़िए हर साल यात्रा करते हैं

साल 2010 में हर साल करीब 1.2 करोड़ कांवड़िए (Kanwar Yatra) पवित्र गंगाजल लेने हरिद्वार आते हैं और फिर इसे अपने शिवालयों में लेकर जाते हैं। ज्यादातर कांवड़िए उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, ओडिसा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और झारखंड से अब हरिद्वार से आते हैं।

कांवड़ यात्रा क्यों कहा जाता है

इसमें आने वाले श्रृद्धालु लकड़ी पर दोनों ओर टिकी हुई टोकरियों के साथ पहुंचते हैं और इन्हीं टोकरियों में गंगाजल लेकर लौटते हैं। इस कांवड़ को लगातार यात्रा के दौरान अपने कंधे पर रखकर यात्रा करते हैं, इसलिए इस यात्रा कांवड़ यात्रा कहा जाता है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Uttarakhand News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here