Kedarnath धाम के कपाट खुले, फूलों से सजाया गया मंदिर

छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद आज विधि विधान पूर्वक मंत्रोचारण के साथ भगवान केदारनाथ धाम के कपाटसुबह 5 बजे खुल गए है।

0
207
Kedarnath Temple Reopen
Kedarnath धाम के कपाट खुले, फूलों से सजाया गया मंदिर

Uttarakhand: भगवान केदारनाथ धाम के कपाट सोमवार से सुबह 5 बजे खुल गए है। छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद आज विधि विधान पूर्वक मंत्रोचारण के साथ पूजा की गई। कपाट खुलने (Kedarnath Temple Reopen) की प्रक्रिया सुबह तीन बजे से शुरू हो गयी थी। कपाट खोलने का समारोह तीर्थ पुरोहितों समेत सीमित लोगों की मौजूदगी में किया गया। इस दौरान मंदिर को फूलों से सजाया गया था।

उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत ने बाबा केदार के धाम के कपाट खुलने पर श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं दी और उनसे घरों में रहकर ही पूजा अर्चना करने तो कहा। सीएम ने लिखा- ‘विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम के कपाट आज सोमवार को प्रातः 5 बजे विधि-विधान से पूजा-अर्चना और अनुष्ठान के बाद खोल दिए गए। मेष लग्न के शुभ संयोग पर मंदिर का कपाटोद्घाटन किया गया। मैं बाबा केदारनाथ से सभी को निरोगी रखने की प्रार्थना करता हूं।’

Also Read: CM तीरथ स‍िंह रावत का बड़ा फैसला, चार धाम यात्रा की रद्द

वहीं सीएम ने आगे लिखा- ‘केदारनाथ (Kedarnath Temple Reopen) के रावल (मुख्य पुजारी) आदरणीय श्री भीमाशंकर लिंगम् जी की अगुवाई में तीर्थ पुरोहित सीमित संख्या में मंदिर में बाबा केदार की पूजा-अर्चना नियमित रूप से करेंगे। मेरा अनुरोध है कि महामारी के इस दौर में श्रद्धालु घर में रहकर ही पूजा-पाठ और धार्मिक परंपराओं का निर्वहन करें।’

बता दें कि कल यानी 18 मई को चमोली में स्थित भगवान बदरीनाथ के कपाट भी सुबह सवा चार बजे ब्रहममुहूर्त में खुल जाएंगे। कोविड के कारण यहां भी श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Also Read: देवप्रयाग में बादल फटने से मची तबाही, घर और दुकानें तबाह

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here