यूपी के इस जिले में फैला HIV संक्रमण, ICMR की शोध में हुआ खुलासा

उत्तरप्रदेश के उन्नाव में पिछले पांच सालों में उपचार के दौरैन असुरक्षित इंजेक्शन और 'इंट्रामस्क्युलर' इंजेक्शन लगाने से एचआईवी के केस बढ़ रहे है।

0
296
HIV Surge in Unnao
यूपी के इस जिले में फैला HIV संक्रमण, ICMR की शोध में हुआ खुलासा

Uttar Pradesh: भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने दावा किया है कि उत्तरप्रदेश के उन्नाव में ह्यूमन इम्यूनो डेविसिएनसी सिंड्रोम (HIV)संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे है। शनिवार को एक शोझ में ये पाया गया है कि जिले में उपचार के दौरान असुरक्षित इंजेक्शन के इस्तेमाल से एचआईवी के केस बढ़े (HIV Surge in Unnao) है। यह शोध के बारे में प्लॉस वन (PLOS One) जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

क्‍या टीका लगवाने के बाद खत्‍म हो जाएगा कोरोना संक्रमण?

इस शोध के अनुसार 2017-2018 के दौरान उन्नाव जिले में संक्रमण के मामले बढ़ने की वजह ये बताई जा रही है कि जिले में पिछले पांच सालों में उपचार के दौरैन असुरक्षित इंजेक्शन और ‘इंट्रामस्क्युलर’ इंजेक्शन लगाना है। आईसीएमार ने एक स्टडी के रिजल्ट को जारी किया है जिसमें ये साफ किया गया है कि जिले के एक अस्पताल में स्थित एकीकृत परामर्श और परीक्षण केंद्र (आईसीटीसी) में आने वाले लोगों में 2017 में एचआईवी के मामले तेजी से बढ़े है।

बता दें कि संक्रमित लोगों में 94 फीसदी लोग ऐसे थे, जिन्होंने किसी और बीमारी के उपचार के चलते इंजेक्थन लगाए थे। इसके अलावा आपको ये भी बता दें कि 2017-2018 के दौरान जिले के तीन आईसीटीसी (Integrated Counselling and Testing Centre) में एचआईवी संक्रमणों के मामलों में दो से सात गुना तक (HIV Surge in Unnao)  की वृद्धि दर्ज की गई है।

KISS करने से पहले जान लें HIV से जुड़ी इन बातों का सच!

आईसीएमआर के शोध के अनुसार नवंबर 2017 से अप्रैल 2018 के बीच उन्नाव के बांगरमऊ प्रखंड के तीन स्थानों- प्रेमगंज, करीमुद्दीनपुर और चकमीरापुर से पता चले एचआईवी सीरो एक्टिव के मामलों पर अध्ययन किया गया। नेशनल एड्स रिसर्च इंस्टीट्यूट पुणे की टीम ने इसके अध्ययन करने का फैसला किया। अध्ययन के हिस्सा लेने वालों से शरीर में चीरा लगाकर उपचार करने की प्रक्रियाओं के आधार पर सवाल किए गए।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here