इस महिला ने जाते-जाते 4 लोगों को दी नई जिंदगी…

41 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली, लेकिन अहम बात ये है कि मरने से पहले चार लोगों को जिंदगी देकर चली गईं।

0
227
Ghaziabad News
साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली, लेकिन अहम बात ये है कि मरने से पहले चार लोगों को जिंदगी देकर चली गईं।

New Delhi: कहा जाता है मरने वाले इंसान को कौन रोक सकता है। और ये सच भी है अगर ऊपर वाले को आपसे ज्यादा प्यार हो जाए तो आपको जाना ही होगा। जिंदगी की असली सच्चाई इसी में है ‘जो आया है वो जाएगा’। ऐसी एक खबर गाजियाबाद की इंदिरापुरम निवासी सैयद रफत परवीन (Ghaziabad News) की है। 

नंदगांव मंदिर में नमाज करना पड़ा था भारी, फैजल को किया रिहा

41 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस (Ghaziabad News) ली, लेकिन अहम बात ये है कि मरने से पहले चार लोगों को जिंदगी देकर चली गईं। उनका दिल, किडनी और लिवर चार लोगों को ट्रांसप्लांट किया गया। रफत के परिवार को गर्व है कि जाते-जाते वह कइयों को जिंदगी दे गईं।

बता दें पिछले हफ्ते रफत के दिमाग की नसों में अचानक ब्लीडिंग हो (Uttar Pradesh News) गई थी। वैशाली स्थित मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने उन्हें बचाने की काफी कोशिश की लेकिन रफत की हालत बिगड़ती गई। आखिरकार गुरुवार को वह जिंदगी की जंग हार गईं। 

UP के 2 करोड़ से ज्यादा किसानों को मिलेगा लाभ, क्या आपके खाते में आई राशि?

डॉक्टरों ने उन्हें ब्रेन डेड घोषित कर (Uttar Pradesh News) दिया। महिला के परिवार की मंजूरी मिलने के बाद डॉक्टरों ने अंगदान का फैसला किया गया। जानकारी के अनुसार, ‘उत्तराखंड के 56 साल के मरीज को हार्ट ट्रांसप्लांट करके जिंदगी बचाई गई। ये व्यक्ति आखिरी स्टेज हार्ट फैल्योर से पीड़ित थे। मरीज की निगरानी की जा रही है। उनकी हालत में सुधार भी आ रहा है।’ 

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here