BSP MLA और पत्नी के खिलाफ हुआ केस दर्ज, धोखाधड़ी का लगा आरोप

0
216
Fraud Case
यूपी में धोखाधड़ी के मामले आम बात है। लेकिन जब किसी शहर की विधायक धोखाधड़ी करते हुए नजर आए, तो हम आम लोगों पर कैसे रोक लगाएंगे।

Uttar Pradesh: यूपी में धोखाधड़ी के मामले आम बात है। लेकिन जब किसी शहर की विधायक धोखाधड़ी (Fraud Case) करते हुए नजर आए, तो हम आम लोगों पर कैसे रोक लगाएंगे। ऐसा ही एक मामला गोरखपुर के चिल्लूपुर से सामने आया है। विधायक विनय शंकर तिवारी (Fraud Case) और उनकी पत्नी रीता तिवारी पर बैंक ऑफ इंडिया से 754.24 करोड़ के फ्रॉड का आरोप लगा हैं।  

बड़े भाई ने छोटे भाई का काटा गला, बचाने गए लोगों पर भी हुआ हमला

बता दें गोरखपुर के चिल्लूपुर से बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी (Fraud Case) और उनकी पत्नी रीता तिवारी समेत गंगोत्री एंटरप्राइसेज और उसके निदेशक अजीत पांडे पर भी मामला दर्ज हुआ है। अधिकारियों के अनुसार, एजेंसी ने सोमवार को अपनी जाँच में छापेमारी की थी। उन्होंने गंगोत्री एंटरप्राइसेज के लखनऊ वाले दफ्तर और तिवारी के आवास पर भी अपनी छानबीन की थी। इसके अलावा नोएडा में भी छापेमारी की है।

सीबीआई टीम को छानबीन में कई अहम दस्तावेज (Uttar Pradesh News) हाथ लगे। इनमें कुछ फर्जी भी बताए जा रहे हैं। सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि बैंक आफ इंडिया  की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई थी कि गंगोत्री इंटरप्राइजेज लिमिटेड के अधिकारियों ने बैंक को 753.24 करोड़ का नुकसान पहुँचाया। इन लोगों ने फर्जी दस्तावेज के सहारे बैंक से क्रेडिट लिया और फिर उस पैसे का इस्तेमाल दूसरी जगह पर किया। 

 बलिया कांड में मुख्य आरोपी की हुई पेशी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

सूत्रों का कहना है कि छापे के दौरान विनय तिवारी और अजीत के ठिकानों से सीबीआई को कई अहम दस्तावेज भी मिल हैं। इसमें कुछ फर्जी दस्तावेज (Uttar Pradesh News) भी शामिल है। सीबीआई इन दस्तावेजों की छानबीन कर रही है। इस मामले में सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा, दिल्ली में एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें विधायक विनय तिवारी गोरखपुर के बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी के लड़के हैं। हरिशंकर तिवारी की एक समय पूरे पूर्वांचल में धाक थी।

क्राइम से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Crime News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here