पत्नी के दाह संस्कार के लिए भटकता रहा बुजुर्ग, श्मशान में नहीं मिली जगह

एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे देखकर इंसानियत भी शर्मशार होती नजर आ रही है। शव को जलाने की जगह न मिलना कितना दुख:द है।

0
233
Coronavirus in UP
एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे देखकर इंसानियत भी शर्मशार होती नजर आ रही है। शव को जलाने की जगह न मिलना कितना दुख:द है।

Uttar Pradesh: जौनपुर से एक ऐसी खबर सामने आई (Coronavirus in UP) है, जिसे देखकर इंसानियत भी शर्मशार होती नजर आ रही है। एक तरफ कोरोना काल की स्थिति और दूसरी तरफ अपनों के शव को जलाने की जगह न मिलना कितना दुख:द (Coronavirus in UP) है। ये पूरा मामला अमरपुर गांव का बताया जा रहा है। 

दिल दहला देगा ये मंजर, राजधानी के श्मशान घाटों में हुई लकड़ी की कमी

एक बुजुर्ग अपनी मृतक पत्नी का शव लेकर भटकता रहा, लेकिन कोरोना (Coronavirus) के डर से उसकी मदद करने कोई भी नहीं आया। फिर जब बुजुर्ग अकेले ही शव को साइकिल से लेकर निकला तो ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार करने से ही रोक दिया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को रामघाट ले जाकर दाह संस्कार किया। 

दिल्ली में अब LG की सरकार ! लागू किया नया संशोधन कानून

दरअसल, अमरपुर निवासी तिलकधारी सिंह (Tilakdhari singh) की पत्नी राजकुमारी कई दिनों से बीमार चल रही थीं। जब पति ने पत्नी को हास्पिटल में भर्ती कराया तो डॉक्टरों ने उसके इलाज के लिए बेड और दवाई नहीं दी और महिला की मौत हो गई। जिसके बाद बुजुर्ग पति को शमशाम में दाह संस्कार करने की जगह नहीं मिली तो अपने गांव लेकर आ गया, लेकिन यहां भी ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार करने से रोक दिया, जिसके बाद पुलिस ने शव को रामघाट पहुंचाया और अंतिम संस्कार किया गया।  

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here