Eid से पहले सीएम योगी का निर्देश, गोवंश और ऊंट की न हो कुर्बानी’…देखें नई गाइडलाइन

Eid ul adha यानी बकरीद इस्लाम धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। इस मौके पर सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश।

0
272
UP Bakra Eid 2021 Guideline
Eid ul adha यानी बकरीद इस्लाम धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। इस मौके पर सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश।

Uttar Pradesh: 21 जुलाई को Eid ul adha यानी बकरीद इस्लाम धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। इस मौके पर यूपी में सीएम योगी CM Yogi ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ईद (UP Bakra Eid 2021 Guideline) के किसी भी आयोजन में 50 से ज्यादा लोग जमा न हों। अगर इस आदेश का पालन नहीं किया गया तो संबंधित व्यक्ति या परिवार पर कानून के मुताबिक सख्त कार्रवाई की जाए। सीएम ने ये भी कहा कि जिला प्रशासन के अधिकारी भी नजर रखें कि बकरीद पर गोवंश, ऊंट व प्रतिबंधित पशु की कुर्बानी न हो। इसके लिए निजी परिसरों का ही उपयोग किया जाएगा। 

मुस्लिम धर्मगुरुओं ने क्या कहा…

जामा मस्जिद के प्रवक्ता हाजी फरमान हैदर ने कहा कि बकरीद को देखते हुए सभी से अपील है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाए, खुली जगह पर कुर्बानी न करें। साफ-सफाई का भी ख्याल रखें और मस्जिदों में भीड़ जमा न करें। आस-पास पर बने मस्जिदों में नमाज पढ़ें। तीसरी लहर को देखते हुए ईद-उल-अजहा की नमाज ईदगाह में नहीं होगी। अपनी-अपनी मस्जिदों में गाइडलाइन का पालन करते हुए नमाज अदा करें.

बता दें सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने टीम-09 के साथ समीक्षा बैठक में कहा कि राज्य में 21 जुलाई को किसी भी सार्वजनिक स्थल पर कुर्बानी बर्दाश्त नहीं होगी। इसके साथ ही किसी भी जगह पर 50 या इससे अधिक लोगों को एकत्र नहीं होने दिया जाएगा। दरअसल, पिछले साल भी कोरोना की वजह से ईद शान्ति पूर्वक बनाई गई थी। और इस साल भी ऊंटों की कुर्बानी नहीं की जाएगी।

काफी दिनों से उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा को लकर राजनीतिक घमासान चल रहा था। हालांकि उत्तराखंड सरकार ने यात्रा पर रोक लगा दी थी। लेकिन यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा रद्द नहीं किया था। जिसके बाद उत्तराखंड सरकार ने यूपी बॉर्डर पर कांवड़ियों को रोकने का आदेश दिया था। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने भी कोरोना की वजह से चिंता जताई थी। इसके बाद योगी सरकार को भी यूपी में कांवड़ यात्रा रद्द करना पड़ी। 

Also Read: माफियाओं पर योगी सरकार का एक्शन, अवैध संपत्ति जब्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here