CM योगी ने वितरित की पेंशन, लाभार्थियों के खातों में ट्रांसफर की अब तक की सबसे बड़ी रकम

0
455
सीएम योगी आदित्यनाथ

देश भर में कोरोना वायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है. लोग घरों में बैठे हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार सुबह 10 बजे वृद्धावस्था, निराश्रित महिला, दिव्यांगजन तथा कुष्ठावस्था पेंशन योजनाओं के लाभार्थियों को एक साथ अब तक की सबसे बड़ी रकम उनके खातों में ट्रांसफर करके बड़ी राहत दी है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सीएम योगी ने मनरेगा श्रमिकों के खातों में राशि डाली थी. सीएम योगी ने 87 लाख लोगों में 871 करोड़ रुपए पेंशन के तौर पर वितरित किए हैं. इस दौरान उन्होंने लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए बात भी की। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए वाराणसी और गोरखपुर समेत 8 जिलों के लाभार्थियों से बात की। इस दौरान सीतापुर के एक लाभार्थी दिनेश कुमार यादव ने भावविभोर होकर सीएम योगी के लिए कविता भी पढ़ी.

इतना ही नहीं, इस मौके पर बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने प्रदेश भर के बेसिक स्कूलों के शिक्षकों और शिक्षा अधिकारियों की ओर से मुख्यमंत्री राहत कोश में 76 करोड़ 14 लाख 55 हजार रुपए का बड़ा योगदान दिया. इस योगदान के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर के शिक्षकों, शिक्षिकाओं और शिक्षा अधिकारियों का आभार भी जताया.

बता दें कि इससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए लागू लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे, उन्होंने कहा है कि आपदा की स्थिति से बाहर निकलने में लॉकडाउन को शत-प्रतिशत सफल बनाना होगा. इसके लिए प्रत्येक नागरिक को संयम बनाए रखना जरूरी है.

सीएम योगी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान अंतरजनपदीय, अंतरराज्यीय और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को पूरी तरह सील किया गया है. इनका उल्लंघन न होने पाए. इसके लिए प्रभावी पेट्रोलिंग की जाए. उन्होंने लॉकडाउन से प्रभावित लोगों की समस्या का त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि शेल्टर होम टेंट खुले में न बनाकर, किसी भवन में ही बनाया जाए.

शेल्टर होम्स में भोजन, पेयजल, दवा की पूरी व्यवस्था के साथ ही सुरक्षा भी सुनिश्चित की जाए. वृद्धजनों, महिलाओं तथा मानसिक रूप से कमजोर लोगों की काउंसलिंग की जाए. प्रत्येक शेल्टर होम का एक इंचार्ज भी नियुक्त किया जाए. प्रमुख सचिव कृषि ने बताया कि सभी जिलों में कम्यूनिटी किचन का सफल संचालन किया जा रहा है.

जरूरतमंदों को उचित माध्यम से पके खाने के पैकेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं. जिलाधिकारियों द्वारा खाद्य पदार्थ की रेट लिस्ट का सकारात्मक परिणाम मिला है.इससे कालाबाजारी पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित हुआ है. मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा को निर्देश दिए कि कोविड-19 की जांच के लिए टेस्टिंग किट की संख्या बढ़ाई जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here