SC ने बाबरी मस्जिद में फैसला सुनाने वाले जज की इस याचिका को किया खारिज

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला देने वाले पूर्व जज एसके यादव की सुरक्षा बढ़ाने से इनकार कर दिया है।

0
168
Babri Masjid Demolition Case
SC ने बाबरी मस्जिद में फैसला सुनाने वाले जज की इस याचिका को किया खारिज

Uttar Pradesh: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में (Babri Masjid Demolition Case) सुप्रीम कोर्ट ने फैसला देने वाले पूर्व जज एसके यादव (SK Yadav) की सुरक्षा बढ़ाने से इनकार कर दिया है। जज एसके यादव ने सुरक्षा जारी रखने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था, उनकी याचिको को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। इस पीठ में न्यायमूर्ति नवीन सिन्हा और न्यायमूर्ति कृष्णा मुरारी ने कहा, ‘हम सुरक्षा बढ़ाना उचित नहीं समझते हैं।’

Babri Masjid Case: आडवाणी-जोशी समेत 32 लोगों पर फैसला आज

पूर्व पूर्व जज एसके यादव ने बाबरी मस्जिद मामले में सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया था, जिनमें भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी, एमएम जोशी और उमा भारती का नाम शामिल था। पूर्व जज एसके यादव ने अपने कार्यकाल के अंतिम दिन बाबरी विध्वंस मामले में फैसला सुनाया था। उन्होंने मामले की संवेदनशीलता को लेकर अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा बढ़ाने की मांग की थी।

दरअसल, मामले का ट्रायल करने वाले स्पेशल जज एसके यादव पिछले साल 30 सितंबर को ही रिटायर होने वाले थे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने होने नहीं दिया। और उनका कार्यकाल फैसला तक बढ़ा दिया था। कार्यकाल बढ़ाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने यूपी सरकार से जवाब मांगा था, जिसके जवाब में यूपी सरकार ने कहा था कि राज्य में किसी जज का कार्यकाल बढ़ाने का कोई प्रावधान नहीं है।

बाबरी विध्वंस मामले में फैसला सुनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का आदेश

मालूम हो कि बाबरी विध्वंस मामले (Babri Masjid Demolition Case) में यह फैसला घटना के करीब 28 साल बाद 30 सितंबर 2020 को आया था। वहीं आपको बता दें कि इससे पहले ट्रायल के दौरान पूर्व जज एसके यादव ने सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा मुहैया करने की मांग की थी, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया था। अदालत ने यूपी सरकार (UP Government) को सुरक्षा देने के निर्देश दिए थे। लेकिन फैसला आने के बाद जज की सुरक्षा जारी रखने से इनकार कर दिया गया था।

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here