डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को याद आयी टॉपर बच्चे की बात, मेरे घर की नहीं स्कूल की सड़क कच्ची है, फिर…

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बीजेपी की सरकार से पहले यूपी में गड्डा युक्त सड़कें देने वाली सरकार थी, लेकिन बीजेपी सरकार में हजारों किलोमीटर की सड़कों को गड्ढा मुक्त कर दिया गया।

0
1060

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को बदायूं जिले के लोगों को विकास की सौगात देते हुए 3,470 करोड़ की लागत से बने 127 किलोमीटर लंबे मार्ग का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उनके साथ कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना भी मौजूद रहे।

उपमुख्यमंत्री ने बदायूं क्लब में आयोजित कार्यक्रम में शासन की प्राथमिकताएं गिनाईं और साथ ही योजनाओं का बखान भी किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सबके विकास को लेकर काम कर रही है। हमारी सरकार का निरंतर प्रयास विकास के लिए है। जब से उत्तर प्रदेश में मोदी जी के नेतृत्व में योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार बनाई है, तब से यहां पर विकास के दरवाजे खुल गए हैं।

कार्यक्रम के दौरान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बीजेपी की सरकार से पहले यूपी में गड्डा युक्त सड़कें देने वाली सरकार थी, लेकिन बीजेपी सरकार में हजारों किलोमीटर की सड़कों को गड्ढा मुक्त कर दिया गया। राज्य की पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मैं अखिलेश यादव का बयान सुन रहा था उनसे कहना चाहता हूं कि वे यदि अपना कार्यकाल याद करें तो उन्हें शर्मिंदगी मसहूस होगी।

लोकार्पण के दौरान उपमुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी सरकार की एक योजना थी कि जो बच्चे टॉपर होंगे उनके घर तक की सड़क सरकार बनवाएगी, उस योजना का नाम एपीजे अब्दुल कलाम सम्मान योजना रखा गया। टॉपर में बदायूं का एक बच्चा भी था जब उससे सड़क बनवाने का पता पूछा गया, तो उसने कहा कि मेरे घर तक पक्की सड़क पहले से है, लेकिन मेरे स्कूल की सड़क कच्ची है। इस बात पर बहुत खुशी हुई और उसके स्कूल की सड़क बनवा दी गई, लेकिन अब किसी बच्चे को स्कूल की सड़क बनवाने के लिये सिफारिश नही करना पड़ेगी। अब यह निश्चय किया गया है कि जिस स्कूल का बच्चा टॉपर आएगा, उस स्कूल की सड़क भी सरकार बनवाएगी।

इसके बाद डिप्टी सीएम ने प्रेस वार्ता में पत्रकारों के सवालों के भी जवाब दिए। राम मंदिर निर्णय पर ओवैसी द्वारा लगातार की जा रही बयानबाजी पर उन्होंने कहा कि देश की सर्वोच्च अदालत निर्णय कर चुकी है कि मंदिर कहां बनाया जाना है और मस्जिद को जमीन कहां दी जानी है। उन्होंने कहा कि जो लोग राजनीतिक रोटियां सेकने का काम करते हैं, वे बस यही कर सकते हैं। विद्युत कर्मियों के पीएफ राशि घोटाले पर उन्होंने कहा कि राशि वापसी की एक प्रक्रिया होती है जो पूरी की जाएगी और इसमें दोषी चाहे जो भी हो बख्शा नही जाएगा।

इसके बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बीएल वर्मा के बेटे की शादी समारोह में शामिल होने के लिये लोकार्पण स्थल से रवाना हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here