Vikas Dubey Encounter: यूपी सरकार का सुप्रीम कोर्ट में जवाब, कही यें बात

कानपुर के विकास दुबे एनकाउन्टर (Vikas Dubey Encounter) मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल कर कहा है कि फर्जी मुठभेढ़ की बात गलत है।

0
538
Daughter right on father property
SC का बड़ा फैसला, अब बेटियों का पैतृक संपत्ति पर बेटों के बराबर अधिकार होगा

Uttar Pradesh: विकास दुबे एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) केस में उत्तर प्रदेश सरकार ने विकास दुबे  और उसके साथियों की मौत के मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के सामने अपना विस्तृत जवाब दाखिल किया है। पुलिस ने कहा कि शुरुआत में गोली चलाकर विकास को सरेंडर करने को कहा लेकिन विकास ने बात नहीं मानी और फायर करने पर उस पर गोली चलानी पड़ी।

Vikas Dubey Encounter: “ये कार नहीं पलटी है, सरकार पलटने से बचाई”- अखिलेश यादव

यूपी सरकार ने दलील दी (Supreme Court) कि इसे किसी भी तरह फेक एनकाउंटर नहीं कहा जा सकता है। इस संबंध में दायर याचिकाओं पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की एक पीठ द्वारा सुनवाई की जाएगी, जिसका नेतृत्व भारत के मुख्य न्यायाधीश करेंगे। अदालत घनश्याम उपाध्याय और अनूप प्रकाश अवस्थी नाम के दो वकीलों द्वारा दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई हो रही है।

इसके साथ ही यूपी पुलिस ने दुबे के ख़िलाफ़ दर्ज सभी आपराधिक मामलों की सूची कोर्ट को दी है। एनकाउंटर के समय घटनास्थल पर पलटी पुलिस की गाड़ी की फ़ोटो, विकास दुबे के शव की फ़ोटो, विकास दुबे ने जिन आठ पुलिस वालों की हत्या की, उनके शवों की फ़ोटो कोर्ट में जमा की है।

Kanpur Shootout: विकास दुबे के घर से AK 47 बरामद

बता दें कि कई दिनों तक पांच लाख रुपये के इनामी गैंगस्टर विकास दुबे को ढूंढने के बाद वह मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा गया था। यूपी एसटीएफ वहां से दुबे को कानपुर लेकर आ रही थी, तभी अगले दिन सुबह उसका एनकाउंटर हो गया। यूपी एसटीएफ ने दावा किया है कि पुलिस की गाड़ी पलटने की वजह से दुबे भागने की कोशिश करने लगा। उसने पुलिस से बंदूक छीन ली और फायरिंग भी की। इसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दुबे को ढेर कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here