बुलंदशहर में दर्दनाक हादसा, छेड़खानी के दौरान अमेरिका में पढ़ने वाली छात्रा की मौत

अमेरिका के बॉबसन कॉलेज में पढ़ रही सुदीक्षा भाटी की सड़क हादसे में मौत हो गई। औरंगाबाद गांव के पास उनकी स्कूटी को तेज रफ़्तार बाइक सवार ने टक्कर मार दी।

0
345
Sudiksha Bhati Case
अब तक सुदीक्षा भाटी के आरोपियों का नहीं चला पता, वहीं पुलिस का छेड़खानी की बात से इनकार

Greater Noida: अमेरिका के बॉबसन कॉलेज (Bobson College of America) की स्टूडेंट सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati Accident) की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। सुदीक्षा भाटी ने दो साल पहले ही इंटरमीडिएट की परीक्षा में बुलंदशहर जनपद टॉप किया था। स्कॉलरशिप मिलने पर शिक्षा के लिए सुदीक्षा अमेरिका चली गई।

बताया जा रहा है कि महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते सुदीक्षा (Sudiksha Bhati Accident) अमेरिका से भारत वापस वापस आ गई थीं। सोमवार की सुबह वो अपने मामा से मिलने चाचा सतेंद्र भाटी के साथ स्कूटी से सिकंदराबाद जा रही थी। नेशनल हाईवे पर औरंगाबाद गांव के पास उनकी बाइक को तेज रफ़्तार बुलेट सवार ने टक्कर मार दी। इस हादसे में सुदीक्षा की मौत हो (Sudiksha Bhati Accident) गई है जबकि उनके चाचा सतेंद्र भाटी को गंभीर चोटें आई हैं।

 कोविड अस्पताल में लगी भीषण आग, 8 मरीजों की हुई मौत

बता दें कि सुदीक्षा भाटी के सामने उनका एक शानदार करियर था। सुदीक्षा की कामयाबी इसलिए और ज्यादा बड़ी थी क्योंकि वह एक गरीब परिवार से आई थीं। उनके पिता चाय बेचने का काम करते हैं, लेकिन कुछ लड़कों की छेड़खानी ने इस प्रतिभा को हमेशा के लिए बुझा दिया। साल 2018 में सुदिक्षा ने इंटरमीडिएट में बुलंदशहर जनपद को टॉप किया था। HCL की तरफ से 3 करोड़ 80 लाख रुपये की स्कॉलरशिप दिए जाने के बाद सुदीक्षा भाटी अमेरिका में उच्च शिक्षा ग्रहण करने चली गई थी।

पुलिस ने छात्रा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अज्ञात बाइकर्स के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर ली गई है। इस घटना से एक बार फिर कानून-व्यवस्था सवालों के घेरे में आ गई है।

CLAT- 2020: इन नियमों के साथ, सितंबर से होगी क्लैट परीक्षा

आपको बता दें कि गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील की रहने वाली सुदीक्षा बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं। सुदीक्षा के पिता ढाबा चलाते हैं। सुदीक्षा ने बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूल से कक्षा पांच तक पढ़ाई की। प्रवेश परीक्षा के जरिये सुदीक्षा का एडमिशन एचसीएल के मालिक शिव नदार के सिकंदराबाद स्थित स्कूल में हो गया। सुदीक्षा ने कक्षा 12 में बुलंदशहर टॉप किया और इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए उसका चयन अमेरिका के बॉब्सन कॉलेज में हुआ। पढ़ाई के लिए सुदीक्षा को भारत सरकार की तरफ से 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप भी मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here