शिवसेना का केंद्र पर फिल्मी अंदाज में तंज, आर्थिक सुस्ती को लेकर बोला ये डायलॉग

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच सरकार बनाने को लेकर खींचतान चल रही है। इसी बीच शिवसेना ने फिल्मी अंदाज में आर्थिक तंगी को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

0
768
Uddhav-Thackeray

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच सरकार बनाने को लेकर खींचतान चल रही है। इसी बीच शिवसेना ने फिल्मी अंदाज में आर्थिक तंगी को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। बता दें कि शिवसेना ने ‘शोले’ फिल्म के रहीम चाचा के डायलॉग का प्रयोग करते हुए देश में आर्थिक सुस्ती पर अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा है, ‘इतना सन्नाटा क्यों है भाई?’

मालूम हो कि शिवसेना ने जिस डायलॉग का प्रय़ोग किया है, वह शोले फिल्म में रहीम चाचा (एके हंगल) का डायलॉग है। जब अमजद खान (गब्बर सिंह) नौकरी के लिए बाहर जा रहे उनके बेटे की हत्या कर उसकी लाश एक घोड़े पर रखकर गांव में भेजता है। उस दौरान सभी गांव वाले एकदम चुप रहते हैं, इसी बीच दृष्टिबाधित खान चाचा सबसे सवाल करते हैं। ‘इतना सन्नाटा क्यों है भाई?’

शिवसेना ने इस डायलॉग के माध्यम से देश में आर्थिक सुस्ती और त्योहारों के मौके पर बाजारों से गायब रौनक के लिए सरकार के नोटबंदी और गलत तरीके से जीएसटी को लागू के फैसले को जिम्मेदार बताया है।

शिवसेना ने लिखा है, ‘सुस्ती के डर से बाजारों की रौनक चली गई है और बिक्री 30 से 40 प्रतिशत की कमी आई है। उद्योगों की हालत खराब है और विनिर्माण इकाइयां बंद हो रही हैं, इससे लोगों की नौकरियां जा रही हैं।’ मुखपत्र   सामना के अनुसार, कई बैंकों की हालत खराब है, वे वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं और लोगों के पास खर्च करने को पैसा नहीं है।

‘सामना’ ने आगे लिखा है, ‘दूसरी ओर सरकार भी भारतीय रिजर्व बैंक से धन निकालने को मजबूर हुई है। दीवाली पर बाजारों में सन्नाटा छाया है, लेकिन विदेशी कंपनियां ऑनलाइन शॉपिंग साइटों के माध्यम से देश के पैसे से अपनी तिजोरियां भर रही हैं।’

पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में दावा करते हुए लिखा, दिवाली से ऐन पहले हुए राज्य विधानसभा चुनावों में भी शोर कम और सन्नाटा ज्यादा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here