हरियाणा के कृषि मंत्री पर भड़कीं ऋचा चड्डा और तापसी पन्नू, “किसानों की मौत का उड़ा रहे मजाक”

हरियाणा सरकार के कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल को (Kisan Andolan Latest News In Hindi) किसानों पर दिए विवादित बयान पर काफी आलोचना सहन करनी पड़ रही है।

0
333
Kisan Andolan 2020
हरियाणा के कृषि मंत्री पर भड़कीं ऋचा चड्डा और तापसी पन्नू, "किसानों की मौत का उड़ा कहे मजाक"

New Delhi: हरियाणा सरकार के कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल को (Kisan Andolan Latest News In Hindi) किसानों पर दिए विवादित बयान पर काफी आलोचना सहन करनी पड़ रही है। अब एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा और तापसी पन्नू ने मंत्री के इस बयान की तीखी आलोचना की है। तापसी पन्नू ने ट्विटर पर लिखा, “इंसानी जिंदगी की कीमत कुछ भी नहीं। आपके लिए अनाज (Kisan Andolan Latest News In Hindi) उगाने वाले लोगों की कीमत कुछ नहीं। उनकी मौत का मजाक उड़ा रहे हैं। बहुत खूब. स्लो क्लैप.”अभिनेत्री ने इसके साथ एक न्यूज क्लिप भी शेयर की है। वहीं एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने लिखा है, “पूरी तरह से अपमानजनक! हम बेहतर डिजर्व करते हैं।”

बता दें हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने भिवानी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान (Kisan Andolan Latest News In Hindi) किसानों पर बेहद आपत्तिजनक जवाब दिया था। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि ये जो 200 किसान मरे हैं, अगर घर पर होते तो भी मरते। यहां नहीं मर रहे हैं क्या। उन्होंने कहा, “लाख दो लाख में से 200 छह महीने में नहीं मरते हैं क्या? कोई हार्ट अटैक से मर रहा है, कोई बुखार से मर रहा है।”

ये भी पढ़े: पुलवामा की दूसरी बरसी पर आतंकी साजिश नाकाम, जम्मू बस स्टैंड पर मिला RDX

जेपी दलाल ने कहा, “मुझे ये बता दो कि हिंदुस्तान की एवरेज उम्र कितनी है? और साल के कितने मरते हैं। उसी अनुपात में मरे हैं।” एक सवाल पर उन्होंने कहा कि ये एक्सिडेंट में नहीं मरे हैं। स्वेच्छा से मरे हैं। संवेदना प्रकट करने के सवाल पर हंसते हुए जेपी दलाल ने कहा कि मरे हुए के प्रति पूरी पूरी मेरी हार्दिक संवेदना है।

ये भी पढ़े: UP में अब PORN देखने वालों की खैर नहीं, Police रखेगी पैनी नजर

हालांकि जब जेपी दलाल के इस बयान पर हंगामा मचा तो उन्होंने बयान पर सफाई देते हुए माफी मांग ली। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा, “मेरे बयान का गलत अर्थ निकाला गया। मैंने संवेदना प्रकट की थी। दोबारा से करता हूं। किसी की आकस्मिक मौत हो, तो कष्ट होता है। जहां तक शहीद का दर्जा देने की बात है, तो सिर्फ सेना के जवान को दिया जाता है। अगर फिर भी मेरी बातों से किसी को कष्ट हुआ, हो तो मैं क्षमा याचना करता हूं।”

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here