राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत का बीजेपी पर विधायक ‘खरीद-फरोख्त’ पर आरोप

0
343
CM Ashok Gehlot
CM Ashok Gehlot

Rajya Sabha Election: जैसे-जैसे राज्यसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे है वैसे-वैसे ही राजनीति भी गर्माती जा रही है। इसी को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Rajasthan Chife Minister) ने बीजेपी उनकी सरकार गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है. अशोक गहलोत(Ashok Gehlot) ने आशंका जताई कि गुजरात और राजस्‍थान में राज्‍यसभा(Rajya Sabha Election) के चुनावों में इरादतन दो माह की देरी की गई क्‍योंकि वे ‘खरीद-फरोख्‍त’ पूरी नहीं नहीं कर पाए थे.

कोरोना क्राइसिस ने हमें आत्मनिर्भर भारत बनाने का अवसर दिया है- PM मोदी

बुधवार को कांग्रेस ने राजस्‍थान के विधायकों की खरीद-फरोख्‍त की आशंका के चलते एक रिसॉर्ट में पहुंचाया है. समाचार एजेंसी(ANI) ने सीएम गहलोत(Ashok Gehlot) के हवाले से कहा, “चुनाव(Rajya Sabha Election) यहां है. इसे दो महीने पहले कराया जा सकता था, लेकिन उन्होंने गुजरात और राजस्थान में ‘खरीद और बिक्री’ को पूरा नहीं किया था, इसलिए उन्होंने इसमें देरी की. चुनाव अब होने जा रहे हैं और स्थिति जस की तस है.”

बिहार मंत्री का लालू प्रसाद पर आरोप, कहा- लालू के तीन बेटे

पिछली रात मुख्यमंत्री ने विधायकों के साथ हुई बैठक के बाद कहा, “आप कब तक हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल होकर राजनीति करेंगे. इसमें हैरानी नहीं होगी यदि कांग्रेस उन्हें आने वाले समय में झटका दे. जनता सब कुछ समझती है.” इन विधायकों को शिव विलास रिसोर्ट में ठहराया गया है. उन्होंने बैठक को “लाभदायक” बताया और कहा कि “सभी एकजुट है”.

इससे पहले कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि राज्‍य में उनकी पार्टी को गिराने का प्रयास किया जा रहा है. पाटी ने इसस संबंध में राज्य भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को शिकायत दी है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि उसके विधायकों और कांग्रेस सरकार का समर्थन करने वाले निर्दलीयों को ‘खरीदने’ की कोशिश की जा रही है.

बिहार के कोरोना प्रभावित इलाकों में अभी जारी रहेगा लॉकडाउन- नीतीश कुमार

विधानसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक कांग्रेस नेता महेश जोशी ने एक पत्र में कहा, “मुझे विश्वसनीय स्रोतों के माध्यम से पता चला है कि हमारे विधायकों और निर्दलीय विधायकों को लुभाने की कोशिश की जा रही है. पत्र में कहा गया है कि यह संविधान की भावना और निंदनीय कृत्य के खिलाफ है. ऐसी गतिविधियों में लिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई करें. पत्र में हालांकि सीधे तौर पर बीजेपी का नाम नहीं लिया गया है लेकिन इशारा इसी पार्टी की ओर है.

गौरतलब है कि यह पत्र ऐसे समय सामने आया है जब राज्‍यसभा चुनावों के लिए 19 जून को मतदान होना है. राजस्‍थान में तीन राज्‍यसभा सीटों के लिए चुनाव होना है, जिसमें से दो कांग्रेस और एक बीजेपी के पक्ष में जाने की उम्‍मीद है. हालांकि बीजेपी ने एक के बजाय दो उम्‍मीदवारों को मैदान में उतारा है.

आपको बता दें कि राज्‍य विधानसभा में इस समय कांग्रेस के 107 विधायक हैं, इसमें पिछले साल बीएसपी से टूटकर कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायक शामिल हैं. कांग्रेस को 12 निर्दलीयों का समर्थन भी हासिल है. वही बीजेपी के 72 विधायक जिसमें साझेदारी और निर्दलीयों में छह का समर्थन उसे हासिल है. प्रत्येक उम्मीदवार को जीतने के लिए आदर्श रूप से 51 प्रथम वरीयता वाले वोटों की आवश्यकता होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here