बीजापुर नक्सली हमले में हुआ था किडनैप, CRPF कैंप पहुंचा जवान

मुठभेड़ में नक्सलियों ने अगवा कर लिया था। सैकड़ों ग्रामीणों के सामने नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवान को रिहा किया।

0
176
Naxal Attack in Chhattisgarh
मुठभेड़ में नक्सलियों ने अगवा कर लिया था। सैकड़ों ग्रामीणों के सामने नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवान को रिहा किया।

Chhattisgarh: कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास को नक्सलियों ने रिहा कर दिया हैं। बता दें 3 अप्रैल को बाजीपुर में हुई मुठभेड़ में नक्सलियों (Naxal Attack in Chhattisgarh) ने अगवा कर लिया था। सैकड़ों ग्रामीणों के सामने नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवान को रिहा किया। पद्मश्री धर्मपाल सैनी की उपस्थिति में बिना किसी शर्त के नक्सलियों (Naxal Attack in Chhattisgarh) ने जवान को बिना नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया। 

नोएडा और गाजियाबाद में Night Curfew हुआ लागू, ये है टाइमिंग

दरअसल, बीजापुर के तर्रेम थाना क्षेत्र में 3 अप्रैल को सुरक्षा बल और नक्सलियों (Naxal Attack in Chhattisgarh) के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें सुरक्षा बल के 22 जवान शहीद हुए और 31 घायल हो गए थे। मुठभेड़ के बाद से ही सीआरपीएफ के राकेश्वर सिंह मनहास लापता थे। नक्सलियों ने 5 अप्रैल को एक प्रेस नोट जारी कर इस बात की जानकारी दी थी। इसके बाद उन्होंने बीते बुधवार को जवान की एक तस्वीर भी जारी की। जवान को छुड़ाने के लिए सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी नक्सलियों ने मिलने गईं थीं, लेकिन उन्हें खाली हाथ आना पड़ा। 

18 जिलों में फाइनल हुई प्रत्याशियों की लिस्ट, जानिए कहां-कहां होंगे चुनाव

टीम पहुंची बस्तर

जवना की रिहाई के लिए 11 सदस्यीय टीम पहुंची थी, जिसमे 7 पत्रकारों की टीम मौजूद थी। खास बात ये है कि जवान की रिहाई पर उनकी पत्नी मीनू ने कहा कि ये उनके जीवन का सबसे सुखद पल है। साथ ही बाकी परिजन ने भी सभी का शुक्रिया किया और उनकी वापसी पर खुशी जताई। 

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here