BJP-शिवसेना के बीच खींचतान, राज्यपाल से अलग-अलग मिले दोनों दलों के नेता…

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने हरियाणा में जेजेपी के साथ गठबंधन की सरकार बनाने के बाद अब महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है, लेकिन यहां पर बीजेपी को सरकार बनाना काफी मुश्किल होता दिखाई दे रहा है।

0
765
Devendra fadnavis meet to governor

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने हरियाणा में जेजेपी के साथ गठबंधन की सरकार बनाने के बाद अब महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है, लेकिन यहां पर बीजेपी को सरकार बनाना काफी मुश्किल होता दिखाई दे रहा है।

दरअसल, हरियाणा और महाराष्ट्र में हुए विधान सभा चुनावों में किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिली है। लिहाजा जोड़-तोड़ की राजनीति से सरकार बनाने के लिए राजनीतिक दल खींचतान कर रहे हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में इस बार के चुनाव में भी शिवसेना-बीजेपी को बहुमत मिला है। हालांकि, बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी है। लेकिन सरकार बनाने के लिए बीजेपी और शिवसेना दोनों दलों को सहयोग की जरूरत है। यही कारण है कि शिवसेना ने 50-50 के फार्मूले के मुताबिक सरकार बनाने की शर्त भाजपा के सामने रखी है।

जानकारी के अनुसार, अब शिवसेना और बीजेपी के बीच चल रही रस्साकशी और जोर पकड़ती नजर आ रही है। सूबे में चल रहा सत्ता के लिए संघर्ष यहां तक जा पहुंचा है कि एक साथ चुनाव लड़ने वाली शिवसेना और बीजेपी के प्रतिनिधियों ने दिवाली के अगले दिन राज्यपाल से अलग-अलग मुलाकात की है।

शिवसेना की ओर दिवाकर रोते सोमवार की सुबह महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करने पहुंचे। इस मुलाकात को सरकार गठन से जोड़ाकर दे जा रहा है। हलांकि, दिवाकर रोते ने मुलाकात के बाद बयान दिया कि वह राज्यपाल महोदय से सिर्फ दिवाली पर भेंट करने पहुंचे थे।

दिवाकर रेते ने कहा कि वह 1993 से राज्यपाल से मिलने आ रहे हैं, इस मुलाकात में कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई है। वहीं शिवसेना के बाद बीजेपी की ओर से निवर्तमान सीएम देवेंद्र फडणवीस भी मिलने पहुंचे। देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की।

गौरतलब है कि शिवसेना बीजेपी से 50-50 के फॉर्मूले के तहत मुख्यमंत्री का पद मांग रही है, वह चाहती है कि दोनों दल ढाई-ढाई साल सरकार चलाएं और पहले उसका सीएम बनाया जाए। इस पर बीजेपी ने चुप्पी साध ली है। बीजेपी 30 अक्टूबर को अपने विधायक दल की बैठक करेगी।

उल्लेखनीय है महाराष्ट्र के 288 विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को 161 सीटें मिलीं है, जबकि कांग्रेस-एनसीपी और इसके दूसरे सहयोगियों ने 117 सीटों पर जीत दर्ज की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here